Expand

Sarveen से अपने ही खफा, Ticket काटने की वकालत

Sarveen से अपने ही खफा, Ticket काटने की वकालत

- Advertisement -

धर्मशाला। शाहपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक सरवीण चौधरी का टिकट काटने की वकालत उनके अपनों ने ही sarveen-1की है, जो कभी उनके लिए जी जान से प्रचार करते रहे थे। घृत बाहती चाहंग महासभा की शाहपुर इकाई की बैठक में इस बारे सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किया। ग्राम पंचायत कल्याड़ा में आयोजित इस बैठक में कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही राजनीतिक दलों के पदाधिकारी और कार्यकर्ता मौजूद रहे और दोनों राजनितिक पार्टियों से बिरादरी के समर्थित प्रत्याशी को आगामी विधानसभा चुनावों के लिए टिकट देने की मांग की गई। बैठक के दौरान बिरादरी की मांगों को लेकर सरवीण चौधरी के नकारात्मक रवैये पर चर्चा की गई।

  • बिरादरी की लड़ाई लड़ने में नाकाम रहने का आरोप
  • कांग्रेस से भी ओबीसी वर्ग के प्रत्याशी को टिकट देने की मांग
  • बिरादरी का अगला महासम्मेलन 25 दिसंबर को रैत में होगा
  • बैकलॉग के 17 हजार पदों को जल्द भरने की मांग

protest-4बैठक में यह निर्णय भी लिया गया कि समय रहते यदि दोनों पार्टियों में से एक भी महासभा समर्थित उम्मीदवार को टिकट नहीं देती हैं तो महासभा अपना प्रत्याशी मैदान में उतारेगी। इस बैठक में पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष देश राज बागी, पूर्व जिला परिषद सदस्य हरिकृष्ण, जिला कांग्रेस कमेटी महासचिव बलबीर चौधरी, पूर्व भाजयुमो मंडलाध्यक्ष तिलक पटाकू के अलावा विस क्षेत्र की दर्जनों पंचायतों के पूर्व व वर्तमान प्रतिनिधियों सहित 500 से अधिक लोग उपस्थित रहे। ग्राम पंचायत शाहपुर के उपप्रधान और विधायक सरवीण चौधरी के देवर अश्विनी चौधरी भी इस बैठक का हिस्सा थे। इस बैठक में अधिकतर वह लोग थे जो पूर्व में सरवीण चौधरी के ख़ास सिपहसलार हुआ करते थे। इसलिए एक बात तो तय है कि यदि घृत बाहती चाहंग महासभा अपने फैसले पर एकजुटता से कायम रहती है, तो कांग्रेस की लड़ाई का लाभ लेकर अपनी जीत सुनिश्चित मानकर चल रही सरवीण की राह बहुत मुश्किल हो जाएगी। वहीं बिरादरी ने अपने प्रत्याशी के लिए टिकट की मांग करके कांग्रेस को भी पशोपेश में डालने का काम किया है। क्योंकि शाहपुर कांग्रेस साफ तौर पर मानकोटिया और पठानिया गुट में बंटी हुई है और इन दोनों में से किसे टिकट मिलेगी इस पर भी लंबी राजनीति होनी बाकी है। ऐसे में ओबीसी बहुल विधानसभा क्षेत्र में ओबीसी वर्ग के प्रत्याशी को टिकट  की मांग से, निश्चित तौर पर कांग्रेस की मुश्किलें भी बढ़ेंगी। महासभा ने प्रदेश सरकार से ओबीसी कोटे के तहत बैकलॉग के 17 हजार पदों को भी जल्द भरने की मांग की है, ताकि इस बिरादरी के बेरोजगार युवाओं को रोजगार मिल सके। शाहपुर विधानसभा क्षेत्र में बिरादरी का अगला महासम्मेलन 25 दिसंबर को रैत में रखा गया है जिसमें सैंकड़ों लोग शामिल होंगे। गौरतलब है कि घृत बाहती चाहंग महासभा ने पूरे प्रदेश में अपने वर्ग की अधिकता वाले 18 विधानसभा क्षेत्रों में अपने प्रत्याशियों को टिकट देने की मांग दोनों पार्टियों से की है और ऐसा नहीं होने की सूरत में अपने प्रत्याशी उतारने का भी ऐलान किया है। वहीं, ओबीसी वर्ग के वोटों पर जीत दर्ज करके वर्ग के लिए कुछ नहीं करने वालों के बहिष्कार का भी बिरादरी ने फैसला लिया है और विधायक सरवीण का विरोध भी उसी फैसले का हिस्सा है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है