Covid-19 Update

1,99,467
मामले (हिमाचल)
1,92,819
मरीज ठीक हुए
3,404
मौत
29,685,946
मामले (भारत)
177,559,790
मामले (दुनिया)
×

सत्ती का वीरभद्र पर पलटवार, बोले-जनता चाहती यह जवाब

सत्ती का वीरभद्र पर पलटवार, बोले-जनता चाहती यह जवाब

- Advertisement -

शिमला। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सत्ती (BJP State President Satpal Satti) ने कहा कि सियासी फायदे के लिए पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह बेबुनियाद आरोपबाजी कर रहे हैं। बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि आज प्रदेश की जनता पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह (Former CM Virbhadra Singh) से पूछना चहती है कि क्या प्रशासनिक पकड़ वह होती है, जब पुलिस के अधिकारियों को गुड़िया मामले में सालों जेल काट कर जमानत पर बाहर आना पड़े। क्या मजबूत पकड़ उसे कहते हैं, जब सरकारी अधिकारियों की गाड़ियों से ड्रग्स की तस्करी होती रहे या फिर अधिकारियों पर मजबूत पकड़ उसे कहते हैं, जब प्रदेश में कानून राज खत्म होकर माफिया राज का बोलबाला हो। उन्होंने कहा कि सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) की प्रशासनिक पकड़ वास्तव में ही कमज़ोर होती तो मात्र सवा साल की अवधि में प्रदेश को 14,000 करोड़ रुपए की केंद्रीय आर्थिक सहायता प्रदेश के विभिन्न विभागों में नहीं मिलती। यह सीएम जयराम ठाकुर की प्रशासनिक पकड़ का ही कमाल है कि कांग्रेस के समय रूकी पड़ी विभिन्न परियोजनाओं पर न केवल तेजी से काम आरंभ हुआ बल्कि उन्हें सवा साल के छोटे से कार्यकाल में प्रदेश को सौंप भी दिया गया है।

केंद्रीय विश्वविद्यालय के लिए जमीन का चयन नहीं कर पाई पूर्व सरकार

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि केंद्रीय विश्वविद्यालय (Central University) के लिए पूर्व कांग्रेस जमीन का ही चयन नहीं कर पा रही थी। लेकिन, सारे विवाद को खत्म करते हुए जयराम ठाकुर ने इसके दोनों परिसरों का शिलान्यास (Foundation Stone) भी किया। इसी तरह मंडी में मेडिकल कॉलेज (Medical College) में कलस्टर यूनिर्वसिटी जिसका काम कांग्रेस के कार्यकाल में रूका पड़ा था, वहां कक्षाओं को आरंभ करवाया गया। केंद्र की मोदी सरकार ने हिमाचल को 69 राष्ट्रीय उच्च मार्ग स्वीकृत किए थे। परन्तु पूर्व कांग्रेस सरकार का अधिकारियों पर नियंत्रण न होने से किसी को भी डीपीआर अधिकारियों से बन नहीं पाई। जयराम सरकार में अधिकारियों ने तेजी दिखाते हुए न केवल समय पूर्व डीपीआर तैयार की बल्कि सभी का केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शिलान्यास भी कर दिया है। पूर्व कांग्रेस सरकार (Former Congress Government) में एम्स के लिए जमीन हस्ताक्षरण न होने का मामला भी किसी से छिपा नहीं है।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है