Covid-19 Update

2,01,210
मामले (हिमाचल)
1,95,611
मरीज ठीक हुए
3,447
मौत
30,134,445
मामले (भारत)
180,776,268
मामले (दुनिया)
×

Saudi Arab का बड़ा फैसला: कोड़े की सज़ा और बच्चों की फांसी पर भी लगाई रोक

Saudi Arab का बड़ा फैसला: कोड़े की सज़ा और बच्चों की फांसी पर भी लगाई रोक

- Advertisement -

नई दिल्ली। मानवाधिकारों को लेकर बेहद खराब रिकॉर्ड रखने वाले सऊदी अरब (Saudi Arab) ने दो ऐसे फैसले लिए हैं। जिनकी दुनिया भर में तारीफ़ हो रही है। सऊदी अरब की सुप्रीम कोर्ट के एक दस्तावेज़ के अनुसार, वहां सज़ा के तौर पर अब कोड़े नहीं मारे जाएंगे बल्कि जुर्माना या जेल की सज़ा होगी। बतौर दस्तावेज़, यह किंग सलमान और क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के मानवाधिकार सुधारों का हिस्सा है। अभी वहां सार्वजनिक रूप से नशा करने और उत्पीड़न पर कोड़े की सज़ा मिलती थी। वहीं कोड़े मारने की सज़ा पर प्रतिबन्धगाने के बाद सऊदी अरब ने नाबालिग रहते हुए अपराध करने वालों के लिए फांसी की सज़ा को भी ख़त्म कर दिया है।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस ने उठाए सवाल- 245 का टेस्ट किट 600 रुपए में क्यों खरीद रहा ICMR

सऊदी अरब के मानवाधिकार आयोग ने सऊदी किंग सलमान के हवाले से बताया है कि नाबालिग रहते हुए अपराध करने वालों को अब मौत की सज़ा नहीं दी जाएगी। शाही आदेश के मुताबिक, इसकी बजाय उन्हें जुवेनाइल डिटेंशन सेंटर में अधिकतम 10 साल की सज़ा होगी। मानवाधिकार आयोग की अध्यक्ष अवाद अलवद ने बयान जारी कर कहा कि यह सऊदी अरब के लिए काफी महत्वपूर्ण दिन है। इस रॉयल डिक्री से हमें आधुनिक कानून व्यवस्था लागू करने में मदद मिलेगी। सऊदी अरब के इस फैसले से शिया समुदाय के छह लोगों को राहत मिलेगी जिन्हें मृत्युदंड दिया गया है। इन पर अरब स्प्रिंग आंदोलन के दौरान सरकार-विरोधी प्रदर्शनों में शामिल होने का दोषी पाया गया था। उस वक्त इनकी उम्र 18 साल से कम थी। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार कार्यकर्ताओं ने पिछले साल सऊदी अरब से अपील की थी कि वह इनकी फांसी रोक दे।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है