Covid-19 Update

58,598
मामले (हिमाचल)
57,311
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,095,852
मामले (भारत)
114,171,879
मामले (दुनिया)

सुप्रीम कोर्ट ने स्पेशल अलाउंस को माना बेसिक सैलरी का हिस्सा, पीएफ में आएगा ज्यादा पैसा

सुप्रीम कोर्ट ने स्पेशल अलाउंस को माना बेसिक सैलरी का हिस्सा, पीएफ में आएगा ज्यादा पैसा

- Advertisement -

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने कहा है कि संस्थान (कंपनियां) कर्मचारी की बेसिक सैलरी (Basic Salary) से ‘स्पेशल अलाउंस’ को अलग नहीं कर सकतीं। उन्हें प्रोविडेंट फंड (PF) डिडक्शन के कैलकुलेशन के लिए उन्हें ‘स्पेशल अलाउंस’ को शामिल करना ही होगा। इस फैसले से उन कर्मचारियों पर असर नहीं होगा, जिनकी बेसिक सैलरी और स्पेशल अलाउंस हर महीने 15,000 रुपये से ज्यादा हैं।

यह भी पढ़ें: महंगाई डायन: घरेलू एलपीजी सिलेंडर के दाम बढ़े, गैर-सब्सिडी का सिलेंडर 700 पार

फैसले का मतलब क्या है

मान लीजिए आपकी सैलरी 20,000 रुपये प्रति महीना है। इसमें 6000 रुपये आपकी बेसिक सैलरी है और बाकी 12000 रुपये का स्पेशल अलाउंस (Special Allowanace) मिलता है। तो अब आपका पीएफ 6000 रुपये पर नहीं, बल्कि 18000 रुपये पर कैलकुलेट होगा। ऐसे में टेक होम सैलरी कम हो जाएगी। कंपनी की ओर से पीएफ कॉन्ट्रीब्यूशन बढ़ जाएगा। लिहाजा आपका ज्यादा पैसा पीएफ में लगेगा।

यह भी पढ़ें: आज से बदल जाएंगी ये चीजें, आपके जीवन पर होगा सीधा असर

पूरा मामला यह है

सुप्रीम कोर्ट से पूछा गया था कि कंपनियां (Companies) या संस्थान अपने कर्मचारियों को जो स्पेशल अलाउंस देते हैं, वह बेसिक सैलरी का हिस्सा हैं या नहीं? इस पर फैसला देते हुए जस्टिस सिन्हा की बेंच ने कहा कि तथ्यों के आधार पर वेज स्ट्रक्चर और सैलरी के अन्य हिस्सों को देखा गया है। एक्ट के तहत अथाॉरिटी और अपीलीय अथॉरिटी दोनों ने इसकी परख की है। दोनों ही इस निष्कर्ष पर पहुंचे हैं कि स्पेशल अलाउंस बेसिक सैलरी का हिस्सा हैं। इसे छद्म तरीके से अलांउस की तरह दिखाया जाता है ताकि कर्मचारियों के पीएफ अकाउंट में डिडक्शन और कॉन्ट्रिब्यूशन से बचा जा सके।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है