Covid-19 Update

2,05,061
मामले (हिमाचल)
2,00,704
मरीज ठीक हुए
3,498
मौत
31,396,300
मामले (भारत)
194,663,924
मामले (दुनिया)
×

निजी स्कूलों को फरमानः Board से प्रकाशित पुस्तकें ही पढ़ानी होंगी

निजी स्कूलों को फरमानः Board से प्रकाशित पुस्तकें ही पढ़ानी होंगी

- Advertisement -

School Education Board : धर्मशाला। हिप्र स्कूल शिक्षा बोर्ड से संबंद्धता प्राप्त निजी स्कूलों को बोर्ड द्वारा प्रकाशित पुस्तकें ही पढ़ानी होंगी। अगर ऐसा नहीं किया तो संबंद्धता निलंबित या फिर रद भी हो सकती है। बोर्ड विशेष निरीक्षण दस्तों का गठन करने पर भी विचार कर रहा है, जोकि स्कूलों में जाकर औचक निरीक्षण करेगा व शिक्षा बोर्ड अध्यक्ष को रिपोर्ट सौंपेगा। स्कूल शिक्षा बोर्ड अध्यक्ष स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में यह जानकारी दी कि सभी निजी शिक्षण संस्थानों, जो हिप्र स्कूल शिक्षा बोर्ड से संबंद्धता प्राप्त है, से यह जानकारी प्राप्त की जा रही है कि क्या वे उनके शिक्षण संस्थान में छात्रों के लिए बोर्ड द्वारा प्रकाशित की जाने वाली पुस्तकों को ही पढ़ाया जा रहा है या कोई दूसरे प्रकाशक द्वारा मुद्रित की जाने वाली पाठ्यपुस्तकों को प्रयोग में लाया जा रहा है।

 


छात्रों पर अतिरिक्त आर्थिक बोझ

अध्यक्ष के ध्यान में समय-समय पर निजी शिक्षण संस्थानों में शिक्षा ग्रहण कर रहे छात्रों के अभिभावकों अन्य स्वंय सेवी संस्थाओं तथा बोर्ड द्वारा पंजीकृत पुस्तक विक्रेताओं द्वारा यह विषय लाया जाता रहा है। यह आम शिकायत है कि निजी शिक्षण संस्थान अपने शिक्षण संस्थानों में निजी प्रकाशकों द्वारा मुद्रित की जाने वाली पुस्तकों का ही उपयोग किया जाता है, जो शिक्षा बोर्ड की पुस्तकों की तुलना में महंगी हैं और छात्रों पर अतिरिक्त आर्थिक बोझ भी पड़ता है। संबंद्धता नियमावली के प्रावधानों के अंतर्गत उन सभी शिक्षण संस्थानों को जो बोर्ड से संबंद्धता प्राप्त किए हुए है केवल बोर्ड द्वारा प्रकाशित की हुई पुस्तकें ही कक्षाओं में छात्रों द्वारा प्रयोग में लाई जानी होती हैं जो राष्टीय शिक्षा, अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद  द्वारा तैयार की जाती हैं तथा सरकार द्वारा अनुमोदित है।

यदि आवश्यक हुआ तो विशेष निरीक्षण दस्तों का गठन किया जाएगा, जो इन स्कूलों में जाकर औचक निरीक्षण करेंगे और अपनी रिपोर्ट अध्यक्ष स्कूल शिक्षा बोर्ड को सौंपेंगे। इन रिपोर्टों के आधार पर उन शिक्षण संस्थानों के विरूद्ध संबंद्धता नियमावली के अंतर्गत कार्रवाई अम्ल में लाई जाएगी, जिसमें स्कूल की संबंद्धता को निलंबन करने तथा संबंद्धता को रद करने जैसी कार्रवाई शामिल होगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है