×

अनसेफ भवन में चल रहा ठंगर स्कूल, शिक्षा व लोनिवि भाग रहे जिम्मेदारियों से

अनसेफ भवन में चल रहा ठंगर स्कूल, शिक्षा व लोनिवि भाग रहे जिम्मेदारियों से

- Advertisement -

ऋषि महाजन/ नूरपुर। दो विभागों के फाइलों के चक्कर में नूरपुर के ठंगर स्थित प्राइमरी स्कूल के बच्चों खतरे के साये में पढ़ाई कर रहे हैं। हालत यह है कि भारी बरसात के चलते उक्त स्कूल भवन किसी भी समय गिर सकता है। शिक्षा व लोक निर्माण विभाग के आपसी तालमेल के अभाव के चलते पिछले 1 वर्ष से पूरी फाइल इधर-उधर घूम रही है। बच्चों के भविष्य की चिंता ना कर दोनों ही विभाग अपनी जिम्मेदारियों से भाग रहे हैं। शिक्षा विभाग का कहना है कि जब तक उन्हें लोक निर्माण विभाग से अनसेफ का सर्टिफिकेट नहीं मिलता तब तक वह इमारत को गिरा नहीं सकते हैं । जबकि लोक निर्माण विभाग का कहना है कि उन्होंने अनसेफ का सर्टिफिकेट शिक्षा विभाग के पास पहुंचा दिया है।

2001 में किया था स्कूल के भवन का उद्घाटन

इस प्राइमरी स्कूल भवन का उद्घाटन 2001 में विधायक राकेश पठानिया ने किया था। 17 वर्ष  बाद भवन इतनी बुरी हालत में है कि कभी भी गिर सकता है। तीन कमरों वाले ठंगर प्राइमरी स्कूल में  2001 में 29 बच्चे थे लेकिन अब मात्र 10 बच्चे ही रह गए हैं। दो कमरों की हालत खराब है और सभी बच्चे एक ही कमरे में पढ़ाई करते हैं। पूर्व कांग्रेस विधायक अजय महाजन ने स्कूल कमेटी के साथ स्कूल का दौरा कर कमेटी के तत्कालीन अध्यक्ष  एसडीएम ‌के माध्यम से  31/7/2017 को लोक निर्माण विभाग को असुरक्षित घोषित करने का पत्र लिखा। उसके पश्चात सरकार बदल गई।
हास्यास्पद है कि लोक निर्माण विभाग ने 1 वर्ष बाद 9 जुलाई, 2018 को एसडीएम  को पत्र लिखा कि उन्होंने 17 अगस्त, 2017 को इमारत के इंस्पेक्शन पर जाना था लेकिन किन्ही कारणों से जा नहीं सके व दोबारा कमेटी गठित कर इंस्पेक्शन की डेट रखी जाए। दूसरी तरफ विभाग कह रहा है कि उन्होंने 31 मई, 2018 को  शिक्षा विभाग को अनसेफ का सर्टिफिकेट से सौंप दिया है जो कि विभागीय कार्यप्रणाली को संदेह में खड़ा करता है।

क्या कहते हैं अधिकारी

ब्लॉक प्राइमरी शिक्षा अधिकारी नरेश कुमारने कहा कि उन्होंने एक माह पहले ही यह पद संभाला है वह उनके ध्यान में यह मामला आया है वह शीघ्र ही एसडीएम के साथ स्कूल का दौरा कर इस पर शीघ्र कार्रवाई करेंगे। एक्सईएन लोक निर्माण विभाग डीके धीमान ने कहा कि शिक्षा विभाग को इसको गिराने का एस्टीमेट व अनसेफ का सर्टिफिकेट दे दिया गया है व आगे की जिम्मेदारी शिक्षा विभाग की है और यह पत्र 31 मई, 2018 को प्राइमरी स्कूल के हैड टीचर को दे दिया गया है। जबकि हैडटीचर शानो देवी का कहना है कि उन्हें इस प्रकार का कोई पत्र नहीं मिला।
एसडीएम डॉ सुरेंद्र ठाकुर ने कहा कि उन्होंने कुछ माह पहले ही यह पद संभाला है व मामला उनके ध्यान में आया है वह शीघ्र ही स्कूल का दौरा कर संबंधित विभाग को उक्त इमारत को अनसेफ करने के  लिए पत्र लिखेंगे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है