Covid-19 Update

2,04,887
मामले (हिमाचल)
2,00,481
मरीज ठीक हुए
3,495
मौत
31,329,005
मामले (भारत)
193,701,849
मामले (दुनिया)
×

नमक वाले पानी के गरारे करने से कोरोना रुकेगा या नहीं, Research कर रहे वैज्ञानिक

नमक वाले पानी के गरारे करने से कोरोना रुकेगा या नहीं, Research कर रहे वैज्ञानिक

- Advertisement -

हमारे देश में किसी को सर्दी-जुकाम या खांसी होती है तो सबसे पहले एक ही पुराना घरेलू तरीका आजमाते हैं वो है नमक वाले पानी से गरारे करना। इससे गले में आराम मिलता है और खांसी खत्म होती है। अब इसी तरीके पर स्कॉटलैंड की एडिनबर्ग यूनिवर्सिटी स्टडी करने जा रही है कि क्या नमक पानी से गरारा करने पर कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों को फायदा होगा या नहीं। ये बात तो पूरी दुनिया को पता है कि हल्के गर्म नमक वाले पानी से गरारा (Gargle) करने पर खांसी और जुकाम दूर होता है, साथ ही यह खांसी-जुकाम को और खराब होने से रोकता है। अब स्कॉटलैंड (Scotland) में स्थित एडिनबर्ग यूनिवर्सिटी (University of Edinburgh) के वैज्ञानिक इस तरीके का उपयोग कोरोना मरीजों पर करेंगे, साथ ही उस पर अध्ययन करेंगे।

 


 

संक्रमण से कम बीमार लोगों को ट्रायल के लिए चुना

एडिनबर्ग यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक ये पता करेंगे कि नमक पानी से गरारे करने पर क्या शरीर के अंदर एंटीवायरल गतिविधियां बढ़ती हैं। फिलहाल इसके ट्रायल के लिए उन लोगों को चुना गया है जो कोरोना वायरस के संक्रमण से कम बीमार है। ऐसे लोगों को कहा गया है कि वो फिलहाल बुखार कम करने वाली दवाएं खाएं। ज्यादातर पैरासिटामॉल और इबुप्रोफेन। एडिनबर्ग यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों का कहना है कि डेक्सामिथेसोन और रेमडेसिविर कोरोना मरीजों को लाभ पहुंचा रही है लेकिन अब तक वह प्रमाणित तौर पर कोरोना का रामबाण इलाज नहीं है। नमक वाला पानी अगर कोरोना को बढ़ने से रोकता है तो यह एक बेहद सस्ता इलाज होगा। यह किसी भी व्यक्ति को गंभीर रूप से होने वाले कोरोना संक्रमण को कम करेगा।

 

 

एडिनबर्ग एंड लोथियंस वायरल इंटरवेंशन स्टडी (ElVIS) के अनुसार सर्दी-जुकाम से पीड़ित जिन मरीजों ने लगातार नमक पानी से गरारा किया है उन्हें जल्द आराम मिलता है। साथ ही उन्हें कम खांसी, कम जुकाम होता है। नमक वाले पानी से गरारे करने पर सर्दी-खांसी-जुकाम आम इलाज की तुलना में दो दिन पहले ठीक होता है। एडिनबर्ग यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों का मानना है कि नमक वाले पानी से गरारा करने पर कोरोना वायरस से लड़ने की शारीरिक क्षमता बढ़ जाती है। एडिनबर्ग यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर अजीज शेख ने कहा कि नमक में हाइपोक्लोरस एसिड (Hypochlorous Acid) होता है जो किसी भी प्रकार के वायरस को मारने में सक्षम होता है इसलिए नमक पानी से गरारा करने पर कोरोना वायरस से लड़ने में मदद मिल सकती है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है