Covid-19 Update

2,00,603
मामले (हिमाचल)
1,94,739
मरीज ठीक हुए
3,432
मौत
29,973,457
मामले (भारत)
179,548,206
मामले (दुनिया)
×

एसडीएम अंब करेंगे चिंतपूर्णी मंदिर में अधिक पार्किंग फीस वसूली की जांच

एसडीएम अंब करेंगे चिंतपूर्णी मंदिर में अधिक पार्किंग फीस वसूली की जांच

- Advertisement -

ऊना। चिंतपूर्णी जनमंच में गंगोट के पूर्व प्रधान संजीव शर्मा ने सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. राजीव सैजल को बताया कि चिंतपूर्णी (Chintpurni)  में श्रद्धालुओं को पार्किंग फीस (Parking fee) के नाम पर लूटा जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस बारे में कई बार शिकायत (Complaint)  की गई है, लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है।


यह भी पढ़ें: मानकोटिया क्यों बोले, वीरभद्र का परिवार “किन्नौर गजट 1971 के पृष्ठ संख्या 63” को जरूर देख ले


संजीव शर्मा ने आरोप लगाया कि घंटों के हिसाब से 250-300 रुपए तक पार्किंग फीस श्रद्धालुओं (Devotees) से वसूली जा रही है, जिसको रोका जाना चाहिए। इस पर सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने एसडीएम अंब (SDM Amb) को जांच के आदेश दिए। वहीं डूहल बगवाला निवासी संदीप शर्मा ने कहा कि चिंतपूर्णी में मां के दर्शनों के लिए स्थानीय लोगों को पास की सुविधा प्रदान करने की मांग की, ताकि स्थानीय निवासी प्राथमिकता के आधार पर दर्शन कर सकें। इस मामले पर डॉ. सैजल ने डीसी ऊना संदीप कुमार को उचित कदम उठाने के निर्देश दिए।

चिंतपूर्णी निवासी हिंमाशु शर्मा ने कहा कि यहां पर सिविल अस्पताल तक पहुंचना स्थानीय लोगों के लिए काफी मुश्किलों भरा होता है, क्योंकि श्रद्धालुओं की लाइनों की वजह से अस्पताल तक एंबुलेंस भी नहीं पहुंच पाती। ऐसे में अस्पताल को किसी अन्य स्थान पर शिफ्ट किया जाए। इस पर मंत्री ने प्रशासन को अन्य स्थान ढूंढने को कहा, ताकि वहां पर अस्पताल का निर्माण किया जा सके। डूहल भटवाला निवासी रामदेई ने कहा कि उसके पास रहने के लिए मकान भी नहीं है, ऐसे में उसे मकान बनाने के लिए प्रशासन की ओर से आर्थिक सहायता प्रदान की जाए। इस मामले में जिलाधीश ऊना संदीप कुमार ने रामदेई को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया।


पांच साल बाद भी नहीं हुई भूमि की निशानदेही

नारी चिंतपूर्णी निवासी ने होशियार सिंह ने अपनी पंचायत को साडा से बाहर करने की गुहार लगाई। उन्होंने कहा कि पंचायत को साडा में रखने का कोई लाभ नहीं है, ऐसे में सरकार को इस पर पुनर्विचार करना चाहिए। इस पर सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. राजीव सैजल  (Minister Dr. Rajiv Saizal) ने कहा कि सरकार इस मामले में उचित कार्रवाई करेगी। जनमंच कार्यक्रम में लोहारा अप्पर निवासी जैसी राम ने कहा कि 5 साल पहले भूमि की निशानदेही के लिए राजस्व विभाग को आवेदन किया था, लेकिन अब तक निशानदेही नहीं हो पाई है। इस मामले पर डॉ. सैजल ने कड़ा संज्ञान लिया और राजस्व अधिकारियों को एक हफ्ते के भीतर निशानदेही करने के निर्देश दिए।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है