×

गुफाओं के रहस्य

गुफाओं के रहस्य

- Advertisement -

अगर हम भारतीय उप महाद्वीप की बात करें तो जानें कितनी गुफाएं यहां मिली हैं, जिनमें मानवीय बसावट के प्रत्यक्ष प्रमाण मिले हैं और तो और यहां हमें एलियंस के आने के संकेत भी मिलते हैं। भारत की ऐतिहासिकता के जानें कितने सूत्र धरती के नीचे बनी इन गुफाओं में छिपे हुए हैं इसका अंदाजा लगाना मुश्किल है। यहां की कुछ गुफाएं तो प्राकृतिक तौर पर रहने लायक बनी थीं और कुछ आदिकाल के मानव ने व्यवस्थित कर अपने निवास के लिए बना लिया था। मध्य प्रदेश के एक अभयारण्य में स्थित इन गुफाओं से आगे सतपुड़ा की पहाडिय़ां शुरू हो जाती हैं। इनमें महत्वपूर्ण भित्ति चित्र बने हुए हैं।
रोचक यह है कि इनमें पशु-पक्षियों के अलावा एक उड़नतश्तरी का चित्र है, साथ ही एलियन का भी जिसने हेलमेट पहन रखा है उस पर एंटीना लगा है। वह अपने सामने खड़े मानव को दिशा-निर्देश दे रहा है। क्या इससे धरती पर आने वाले एलियंस की प्रामाणिकता नहीं मिल जाती ? दरअसल पूर्वपाषाण काल से ले कर मध्यपाषाण काल तक यह क्षेत्र मानवीय गतिविधियों का केंद्र रहा है। इन गुफाओं में शिकार, नृत्य, हाथी, घोड़े की सवारी, लड़ते हुए जानवर, मुखौटे और घरेलू जीवन के शानदार दृश्य हैं। इतना ही नहीं जंगली सूअर, भैंसे और छिपकली, बिच्छू तक के चित्र बने हुए हैं। चित्रों में खनिज रंगों का इस्तेमाल किया गया है। ज्यादातर गेरुआ, लाल, सफेद पीले और हरे रंगों का प्रयोग हुआ है। ये चित्र उस काल की जीवन शैली के जीवंत प्रमाण हैं। मनुष्य मन से कलाकार है उसने जो कुछ अपने आस-पास देखा, वही चित्रित करता रहा और इस तरह ये चित्र दस्तावेज बन गए। ये चित्र गुफाओं की दीवारों और छतों पर हैं इसलिए सुरक्षित बचे रह गए।


बाघ गुफाएं – ये गुफाएं प्राचीनकाल के स्वर्णिम युग की देन हैं। मध्यप्रदेश के धार जिले में बाघिनी नदी के बाएं तट पर तथा विंध्यपर्वत की दाहिनी ढलान पर नौ गुफाएं स्थित हैं। इनमें 1, 7 तथा 8 नंबर की गुफाएं नष्ट प्राय: हैं। गुफा नंबर-2 को पांडव गुफा, तीसरी गुफा को हाथी गुफा कहते हैं और चौथी गुफा रंगमहल के नाम से जानी जाती है। इन गुफाओं में लंबे कक्ष, स्तंभ, बरामदे, कोठरियां, शैल स्तूप अवलोकितेश्वर और मैत्रेय बुद्ध की प्रतिमाएं हैं। नदी और देवियों का भी अंकन भी है। ये अजंता की समकालीन हैं और उन्हीं के समकक्ष ठहरती हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है