Covid-19 Update

2,16,906
मामले (हिमाचल)
2,11,694
मरीज ठीक हुए
3,634
मौत
33,477,459
मामले (भारत)
229,144,868
मामले (दुनिया)

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति देश को कैसे बनाएगी आत्मनिर्भर, जाने शिक्षाविदों की जुबानी

क्लस्टर यूनिवर्सिटी मंडी में संगोष्ठी का आयोजन शिक्षाविदों ने रखे अपने विचार

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति देश को कैसे बनाएगी आत्मनिर्भर, जाने शिक्षाविदों की जुबानी

- Advertisement -

मंडी। भारत सरकार द्वारा लाई गई नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति (new National Education Policy) देश को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में एक कारगर कदम साबित होगी। यह विचार प्रदेश के जाने-माने शिक्षाविदों ने मंडी (Mandi) में राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर आयोजित संगोष्ठी के दौरान व्यक्त किए। संगोष्ठी का आयोजन क्लस्टर यूनिवर्सिटी मंडी (Cluster University Mandi) में किया गया, जिसमें प्रदेश भर के जाने-माने शिक्षाविदों ने भाग लेकर राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर अपने विचार सांझा किए। संगोष्ठी में अटल मेडिकल यूनिवर्सिटी नेरचौक के कुलपति डॉ. सुरेंद्र कश्यप और हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी (Himachal Pradesh University) से आए नागेश ठाकुर मुख्य वक्ता रहे।

यह भी पढ़ें: #Budget2021 : केंद्रीय बजट में Education के लिए क्या है नई घोषणाएं, क्या है खास

संगोष्ठी के बारे में जानकारी देते हुए डॉ. नागेश ठाकुर ने बताया कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर विस्तार से चर्चा की गई है और सभी शिक्षाविदों ने इसे भविष्य के लिए केंद्र सरकार को बेहतरीन कदम बताया है। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार ने इस वर्ष नेशनल रिसर्च फाउंडेशन (National Research Foundation) के लिए पचास हजार करोड़ के बजट अनुदान का प्रावधान रखा है। उन्होंने कहा नई शिक्षा नीति देश को आत्मनिर्भर बनाने में सहायक सिद्ध होगी। उन्होंने कहा कि यह केंद्र सरकार का बहुत ही महत्वपूर्ण प्रयास है और राज्य सरकारें भी इस नीति को लागू करने में अपनी अहम भूमिका निभा रही हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है