×

School से लौटती बच्चियों को बनाता था हवस का शिकार,500 का किया यौन शोषण 

School से लौटती बच्चियों को बनाता था हवस का शिकार,500 का किया यौन शोषण 

- Advertisement -

दिल्ली। हैवानियत की हद होती है,पर यहां तो हर कोई बोल उठेगा उफ! बात ही ऐसी है, एक ऐसा शख्स जो स्कूल से लौटती बच्चियों को अपनी हवस का शिकार बनाता था,उसने 500 से ज्यादा बच्चियों के साथ ऐसा किया। पुलिस ऐसे सीरियल रेपिस्ट को गिरफ्तार किया है ।


  • पूछताछ के दौरान आरोपी ने अपना जुर्म कबूल करते हुए जो बताया, उसे सुनकर पुलिस के भी होश उड़ गए। उसने पुलिस को बताया कि पिछले 12 साल के दौरान उसने 500 से ज्यादा बच्चियों को अपना शिकार बनाया। एक बार पहले वह गिरफ्तार किया गया था।

आरोपी की पहचान सुनील रस्तोगी के रूप में हुई है जिसकी उम्र 38 साल है। वह शादीशुदा है और उसके बच्चे भी हैं। पुलिस ने बताया कि रस्तोगी ने पूछताछ में यह भी स्वीकार किया है कि वह 2.500 से ज्यादा नाबालिगों के साथ वारदात को अंजाम देने की कोशिश कर चुका है और इस दौरान उसे सिर्फ एक बार 2006 में एक वारदात के लिए उसे 6 महीने के लिए उत्तराखंड के रुद्रपुर में जेल में बंद रहना पड़ा।

  • जेल से छूटने के बाद उसने फिर से इन घिनौनी वारदातों को अंजाम देना शुरू कर दिया।

पुलिस का कहना है कि पूर्वी दिल्ली में टेलर की दुकान पर काम कर चुके इस शख्स ने करीब 12 सालों में दिल्ली, गाजियाबाद और रुद्रपुर में तमाम वारदातों को अंजाम दिया है। उसके निशाने पर स्कूल से घर लौट रहीं 8 से 10 साल की बच्चियां होती थीं। वह बच्चियों से कहता कि उनके मम्मी-पापा ने चॉकलेट भेजी हैं। फिर उन्हें सुनसान जगह ले जाकर गलत काम करता था। 13 दिसंबर 2016 को उसने दिल्ली के न्यू अशोक नगर में 7 साल की बच्ची को अगवा कर रेप किया था। फिर 10 जनवरी को दो बच्चियों के साथ ऐसी ही घटना हुई। सभी मामलों में एक ही तरीका अपनाया गया था। एक बच्ची ने सीसीटीवी फुटेज में आरोपी को पहचान लिया। उसके बाद ही उसकी गिरफ्तारी हुई है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है