×

भारत में जल्द आ सकती है #Corona_Vaccine, सीरम इंस्टीट्यूट के दूसरे-तीसरे फेज के Trial को मिली मंजूरी

ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने कुछ शर्तों के साथ दी अनुमति

भारत में जल्द आ सकती है #Corona_Vaccine, सीरम इंस्टीट्यूट के दूसरे-तीसरे फेज के Trial को मिली मंजूरी

- Advertisement -

नई दिल्ली। दुनिया भर में बढ़ रहे कोरोना के मामलों के बीच हर कोई बस वैक्सीन का इंतजार कर रहा है। भारत में कोरोना वैक्सीन को लेकर एक अच्छी खबर है। देश में सीरम इंस्टीट्यूट को कोरोना वैक्सीन (#Corona_Vaccine) के दूसरे और तीसरे चरण के ट्रायल को मंजूरी मिल गई है। ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) को कोरोना वैक्सीन के दूसरे और तीसरे चरण के ​​परीक्षणों (ट्रायल) को फिर से शुरू करने की अनुमति दे दी है। भारतीय औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआइ) डा.वीजी सोमानी ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को देश में आक्सफोर्ड की वैक्सीन का ट्रायल (Trial) फिर से बहाल करने की अनुमति दे दी है।


यह भी पढ़ें: #Corona Breaking हिमाचल में आज 419 मामले, 250 हुए ठीक- 8 की गई जान

 

गौर हो कि इस वैक्सीन का कई देशों में दूसरे और तीसरे चरण का ट्रायल चल रहा है। एक वालंटियर की तबियत बिगड़ने पर इस वैक्सीन का ट्रायल रोक दिया गया था। इसके बाद डीसीजीआई (DCGI) ने भारत में भी इसका ट्रायल रोक दिया था। हालांकि ब्रिटेन में निजी जांचकर्ताओं द्वारा इस वैक्सीन को सुरक्षित बताए जाने पर शनिवार को ही ट्रायल शुरू करने को अनुमति दे दी गई थी। डीसीजीआइ ने ट्रायल बहाल करने की अनुमति देने के साथ कई शर्ते लगा दी हैं। एसआइआइ को ट्रायल के दौरान वालंटियर की सेहत का पूरा ध्यान रखने और किसी भी गड़बड़ी पर सतर्क निगाह रखने को कहा गया है। गड़बड़ी होने पर एसआइआइ को दी गई दवाओं के डोज की पूरी जानकारी डीसीजीआइ को देनी होगी।

 

यह भी पढ़ें: #Corona Update: हिमाचल में कुल आंकड़ा 10 हजार के करीब, 3704 एक्टिव केस

 

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ने एस्ट्राजेनेका AstraZeneca और ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय द्वारा विकसित किए जा रहे टीके के भारत में ट्रायल को दोबारा शुरू करने के लिए अनुमति का अनुरोध किया था। उन्होंने डेटा सुरक्षा निगरानी बोर्ड (DSMB),यूके की सिफारिशें प्रस्तुत की थीं। एस्ट्राजेनेका (AstraZeneca) ने इससे पहले कोरोना वायरस वैक्सीन के चल रहे ट्रायल को रोक दिया था क्योंकि ट्रायल में शामिल एक स्वयंसेवक ने एक अस्पष्टीकृत बीमारी विकसित की थी। यह बताया गया कि अमेरिका, ब्रिटेन, ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका में परीक्षण को रोक दिया गया था। अब भारत में अनुमति मिलने के बाद ये ट्रायल शुरू हो गया है और जल्द ही वैक्सीन आने की उम्मीद है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है