Covid-19 Update

2,00,282
मामले (हिमाचल)
1,93,850
मरीज ठीक हुए
3,423
मौत
29,853,870
मामले (भारत)
178,745,302
मामले (दुनिया)
×

शांता ने सामने आकर “धर्मशाला” को ठंडे बस्ते में डालने का किया प्रयास

शांता ने सामने आकर “धर्मशाला” को ठंडे बस्ते में डालने का किया प्रयास

- Advertisement -

पालमपुर। सीएम जयराम ठाकुर(CM Jairam Thakur) से मुलाकात के बाद से बीजेपी के वरिष्ठ नेता शांता कुमार( Shanta Kumar) की यामिनी से निकली राजनीतिक चिंगारियों को उन्होंने खुद ठंडे बस्ते में डालने की ये कहकर कोशिश की है कि वह ही सबसे संतुष्ट और प्रसन्न नेता हैं। उन्हें इस बात का मलाल है कि उन्हें असंतुष्ट कहकर उनके साथ अन्याय हो रहा है। बीजेपी का ये आंतरिक उबाल उस वक्त बाहर आने लगा है जब धर्मशाला उपचुनाव सिर पर है।


यह भी पढ़ें: जयराम बोले-कम होता जा रहा गुरुजन के प्रति श्रद्धा का भाव, करने होंगे ये काम


शांता ने जो आज प्रेस रिलीज जारी की है उसमें भी एक बात स्पष्ट हो रही है कि बात धर्मशाला में पार्टी उम्मीदवार को लेकर कहीं ना कहीं पार्टी के भीतर उठापटक चल रही है। तभी उन्होंने कहा कि चुनाव के लिए हमारा सुझाव होता हैं। हमारा कोई उम्मीदवार नहीं होता। उम्मीदवार तो पार्टी का होता है। पार्टी जो भी निर्णय करेगी वहीं उनका भी निर्णय होगा।

शांता ने कहा कि धर्मशाला उप-चुनाव जीतना हम सब की जिम्मेदारी है। पिछले लोकसभा चुनाव में वह उम्मीदवार नहीं थे परन्तु पहले से भी अधिक उन्होंने चुनाव में काम किया और जनता ने भी समर्थन का नया रिकार्ड बनाया। कांगड़ा-चंबा लोकसभा देश में प्रथम रही। उन्होंने ये भी लिखा है कि धर्मशाला उपचुनाव ही नहीं, पार्टी के किसी भी ऐसे काम में उन्हें सबसे आगे पाओंगे। शांता ने कहा है कि अब चुनाव नहीं लडूंगा और वैसे भी इस आयु में जवानी की तरह की सक्रियता नहीं रह सकती और उन्होंने विवेकानन्द ट्रस्ट में और अधिक काम करने का निर्णय किया है।

उन्होने कहीं से किनारा नहीं किया न ही कभी करेंगे। बात को ठंडे बस्ते में डालने की कोशिश कर रहे शांता लिखते हैं कि मंत्रियों के काम-काज के संबंध में विचार और निर्णय लेना केवल सीएम का विषेषाधिकार है फिर भी यह सही है कि मंत्री हमारे हैं तो उन्हें उनके संबंध में सब प्रकार की चिन्ता भी रहती हैं। वे अपने मन्त्रियों से मिलते भी रहते हैं, बात भी होती रहती है। ये सब बाते उस वक्त भी हो रही हैं जब एक दिन पहले पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल ने भी जयराम सरकार को नसीहत भरे शब्दों में अपनी बात रखी है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है