Expand

शांता ने की हिमाचल सरकार की सराहना

शांता ने की हिमाचल सरकार की सराहना

- Advertisement -

दो नेता, एक पार्टी, विचार अलग-अलग। आज बीजेपी के दो बडे़ नेताओं के बयान आए, हैरान करने ने वाली बात यह है कि एक प्रदेश सरकार की कार्यप्रणाली को कोस रहा है तो दूसरा सराहना कर रहा है। दोनों ही नेता प्रदेश के सीएम रह चुके हैं। इनमें प्रेम कुमार धूमल व शांता कुमार शामिल हैं…

धर्मशाला। सांसद शांता कुमार ने एक बार फिर से प्रदेश में सत्तासीन कांग्रेस सरकार की सराहना की है। इस बार शांता ने  बेस लाईन सर्वे 2012 के अनुसार हिमाचल प्रदेश को पूर्णतः बाह्य शौचमुक्त बनाने की मुहिम को सफलतापूर्वक पूरा करने के लिए प्रदेश सरकार के प्रयासों की सराहना की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने इस मुहिम को सफल बनाने के लिए आन्दोलन के रूप में कार्य किया तथा प्रशासन के सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने भी इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए पूर्ण समर्पण एवं समन्वय से कार्य किया है, जो प्रशंसनीय है। इसके साथ ही उन्होंने 2012 के बाद बने नए घरों में शौचालय निर्माण की स्थिति का पता लगाने की दिशा में कार्य करने का भी आग्रह किया।

  • shanta1कहा, पूर्णतः बाह्य शौचमुक्त बनाने के लिए आंदोलन के रूप में किया काम
  • बाह्य शौचमुक्त पंचायत को प्रदान करेंगे 5 लाख रुपए की राशि
  • धरातल पर दिखें मनरेगा के तहत होने वाले कार्य
  • सार्वजनिक शौचलयों का निर्माण प्राथमिकता पर हो

शांता कुमार शनिवार को धर्मशाला में जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति दिशाए की बैठक की अध्यक्षता करते हुए  बोल रहे थे। सांसद ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत ऐसी जगहों परए जहां सार्वजनिक शौचालयों की आवश्यकता है, शौचालयों का निर्माण कार्य प्राथमिकता पर किया जाए। उन्होंने जनप्रतिनिधियों से आग्रह करते हुए कहा कि संबंधित पंचायतों के पूर्णतः बाह्य शौचमुक्त होने का बीडीओ से सत्यापित प्रमाणपत्र उन्हें सौंपने पर वे अपनी सांसद निधि से उन पंचायतों को 5.5 लाख रुपए की धनराशि प्रदान करेंगे। उन्होंने केंद्र सरकार की योजनाओं को प्रभावी तरीके से लागू करने और निर्धनतम व्यक्ति तक उनका लाभ पहुंचाने के लिए कार्य करने के निर्देश दिए।

शांता कुमार ने बैठक में जिला में चल रही विभिन्न विकास योजनाओं एवं कार्यक्रमों की प्रगति की समीक्षा के दौरान मनरेगा योजना का उल्लेख आने पर कहा कि इस योजना का लक्ष्य जरूरतमंद लोगों को रोजगार देना तो है ही, साथ ही यह भी आवश्यक है कि इसके अंतर्गत किए जाने वाले कार्य धरातल पर दिखें। उन्होंने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत नए संपर्क मार्गों के निर्माण को प्राथमिकता देने की बात कही।
shanta3सांसद ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि केंद्र सरकार की जिन योजनाओं में पर्याप्त फंड उपलब्ध नहीं हुआ हैए उसके बारे में संबंधित विभाग विस्तृत नोट बनाकर उन्हें दें। वे भारत सरकार से इस संदर्भ में बात करेंगे। उन्होंने विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत प्राप्त धन को तय समय सीमा में व्यय किए जाने की क्रियाविधि विकसित करने की आवश्यकता पर बल दिया, ताकि लोगों को विकास योजनाओं का लाभ समयबद्ध तरीके से मिलना सुनिश्चित हो।

उन्होंने पंचायती राज विभाग को प्राप्त धन को विकास कार्यों में व्यय करने को लेकर योजना निर्माण में पंचायत समिति एवं जिला परिषद सदस्यों का मशवरा एवं सहयोग लेने का सुझाव दिया। उन्होंने कौशल विकास योजना के अन्तर्गत युवाओं को क्षेत्र विशेष की आवश्यकता एवं परिस्थिति के अनुरूप हुनर सिखाए जाने पर बल दिया।

सांसद ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों को उत्कृष्टता प्रमाण पत्र के लिए भारतीय गुणवत्ता परिषद के पास एवं आईएसओ 9000 के लिए आवेदन करने का सुझाव भी दिया। उन्होंने स्वच्छता मिशन के तहत कूड़ा-कचरा प्रबंधन एवं रिसाइकलिंग की व्यापक व्यवस्था सृजित करने का सुझाव भी दिया।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है