Covid-19 Update

2,18,693
मामले (हिमाचल)
2,13,338
मरीज ठीक हुए
3,656
मौत
33,697,581
मामले (भारत)
233,301,085
मामले (दुनिया)

CAA के समर्थन में बोले शांता – घर में घुसे चोर और मेहमान बराबर नहीं हो सकते

CAA के समर्थन में बोले शांता – घर में घुसे चोर और मेहमान बराबर नहीं हो सकते

- Advertisement -

पालमपुर। बीजेपी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व सांसद शांता कुमार ने कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (Citizenship Amendment Act) के विरुद्ध घटिया राजनीति कर विपक्ष ने यह सिद्ध कर दिया कि भले ही झूठ के पैर नहीं होते, फिर भी कई बार झूठ उड़ कर भी बहुत दूर पहुंच जाता है। भारत सरकार (Indian government) ने केवल पड़ोसी मुस्लिम देशों से आए हिन्दुओं को नागरिकता दी है। इसके अतिरिक्त और कुछ भी नहीं किया है। विपक्ष ने भारत में ऐसा आंदोलन खड़ा करने की कोशिश की कि जैसे लोगों के अधिकारों को छीना गया है। उन्होंने कहा कि विपक्ष का एक ही आरोप है कि भारत के संविधान के अनुसार कोई कानून केवल हिन्दू के लिए नहीं बनाया जा सकता। सरकार ने ऐसे बहुत से कानून बनाए जो सबके लिए नहीं है। किसी जाति विशेष के लिए है। कई प्रकार के आरक्षण अलग-अलग वर्गों को दिए गए। सबको नहीं दिए गए क्योंकि सब बराबर नहीं इसलिए सबको आरक्षण की आवश्यकता नहीं है। हर कानून का किन्हीं परिस्थितियों में अपवाद भी होता है।

यह भी पढ़ें: IAS अधिकारी के नाम से ठगी करने वाला पश्चिम बंगाल से गिरफ्तार, सिम कार्ड बेचता है शातिर

शांताकुमार (Shanta Kumar) ने कहा है कि इस समय तक इस प्रकार के घुसपैठियों की संख्या कम से कम 5 करोड़ हो गई है। असम में कई स्थानों पर घुसपैठियों की संख्या मूल निवासियों से अधिक हो गई है। वोट की खातिर कांग्रेस सरकारें यह घुसपैठ होनी देती रहीं। घुसपैठ करने वालों को मतदाता बनाया जाता रहा। इस प्रकार सताए हुए पीड़ित हिन्दू शरणार्थियों को इन घुसपैठ करने वाले मुस्लमानों के बराबर नहीं समझा जा सकता। भारत को एक लावारिस धर्मशाला नहीं बनाया जा सकता जिसमें कोई भी आकर मालिक बन जाए। घर में चोरी से घुसे चोर और मेहमान को बराबर नहीं समझा जा सकता। ऐसी स्थिति में संविधान शरणार्थियों को अलग कानून बनाने का अधिकार देता है। विपक्ष के अनुसार यदि इन 5 करोड़ घुसपैठियों को नागरिक बनाया जाए तो भारत में एक और पाकिस्तान की नींव पड़ जाएगी।
शांता ने कहा कि पड़ोसी मुस्लिम देशों से आए हुए लोग दो प्रकार के हैं। एक मुस्लिम और एक हिन्दू पीड़ित हैं। पाकिस्तान (Pakistan) में हिन्दुओं की संख्या 23 प्रतिशत से घट कर 3 प्रतिशत रह गई। बंगलादेश में 22 प्रतिशत से घट कर 2 प्रतिशत रह गई। इन दोनों देशों में लगभग 15 करोड़ हिन्दू या तो मुस्लिम बना दिए गए या मार दिए गए या कुछ जान बचा कर भारत आ गए। जो कुछ हिन्दू अपनी जान बचा कर भारत में आए उनकी हर प्रकार की सहायता करना भारत का राष्ट्रीय कर्तव्य है। विश्व के किसी भी देश में रहने वाला हिन्दू भारत मां का पुत्र है। पीड़ित पुत्र को मां अपनी गोद में अवश्य आश्रय देगी।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है