Covid-19 Update

58,879
मामले (हिमाचल)
57,406
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,156,748
मामले (भारत)
115,765,405
मामले (दुनिया)

गरीबी और बढ़ती बेरोजगारी से शांता चिंतित, पीएम मोदी से किया समाधान का आग्रह

गरीबी और बढ़ती बेरोजगारी से शांता चिंतित, पीएम मोदी से किया समाधान का आग्रह

- Advertisement -

पालमपुर। बीजेपी के वरिष्ठ नेता शांता कुमार ने कहा है कि लगातार बढ़ती आबादी अब कई क्षेत्रों में बर्बादी का कारण बनती जा रही है। असम की गरीब घर की बेटी का ऊना पहुंचना शर्मनाक है। गरीबी के चलते बेटियां बेची व खरीदी जाती है और विदेशों में भी भेजी जाती है। इस गरीबी (poverty) का सबसे बड़ा कारण बढ़ती आबादी है। देश के अधिकतर नगरों में कूड़े कर्कट के ढेर एक विकट समस्या बन रही हैं।

यह भी पढ़ें: सिरमौर पुलिस ने 10 साल बाद हरियाणा से दबोचा उद्घोषित अपराधी

शांता कुमार ने कहा है कि बढ़ती आबादी के दबाव से अवैध बस्तियां बस रही हैं। मकान बनाने के लिए अवैध खनन हो रहा है। नये माफिया पैदा हो रहे हैं। खनन रोकने वाले अधिकारियों को कई जगह पीटा और मारा गया है। बढ़ती आबादी के दबाव में अवैध निर्माण (Illegal construction) व भूमि पर अतिक्रमण बढ़ रहा है। वोट की राजनीति के दबाब में यह सब अवैध कुछ समय के बाद वैध करार दिया जाता है। देश की समस्याओं के और भी कारण हैं परन्तु सबसे बड़ा कारण लगातार बढ़ती आबादी है।

उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार दिन-रात नई योजनाएं शुरु कर देश को खुशहाल बनाने की कोशिश कर रही है। योजनाएं नीचे तक पहुंचते-पहुंचते प्रशासन की कमजोरी, भ्रष्टाचार और बढ़ती आबादी के कारण एक सीमा तक असफल हो रही है। शांता कुमार (Shanta Kumar) ने कहा है कि उन्होंने पीएम नरेन्द्र मोदी को इन सभी समस्याओं पर दो बार पत्र लिखा और कई बार चर्चा भी हुई है। पीएम ने इसका समाधान शीघ्र करवाने का आश्वासन भी दिया है। राजनीतिक दल और जनता को इस विकट समस्या के लिए एक जनमत जागृत करना होगा।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है