Covid-19 Update

2,17,140
मामले (हिमाचल)
2,11,871
मरीज ठीक हुए
3,637
मौत
33,501,851
मामले (भारत)
229,513,714
मामले (दुनिया)

CAA पर शांता बोले- विपक्ष को आंदोलन भड़काने में क्या शर्म नहीं आती

CAA पर शांता बोले- विपक्ष को आंदोलन भड़काने में क्या शर्म नहीं आती

- Advertisement -

पालमपुर। चुनावी राजनीति से अलग हो चुके बीजेपी के वरिष्ठ नेता शांता कुमार (Senior BJP leader Shanta Kumar) ना-ना करते भी स्वयं को राजनीति से अलग नहीं कर पा रहे हैं,दो-चार दिन के अंतराल के भीतर वह राजनीति या उससे जुड़े विषयों पर अपनी राय लेकर सामने आ ही जाते हैं। आज उन्होंने नागरिकता संशोधन कानून( CAA) के मसले पर विपक्षी नेताओं को नसीहत देते हुए कहा है कि उन्हें आंदोलन भड़काने पर जरा भी शर्म नहीं आती, भगवान उन्हें सद्बुद्धि दें। शांता का कहना है कि भारत द्वारा बनाया गया नागरिकता कानून विश्व में नया नहीं है।

यह भी पढ़ें: ब्रेकिंग: Bindal बने हिमाचल BJP के अध्यक्ष, आधिकारिक घोषणा के साथ ही खूब गूंजे नारे

दुनिया के बहुत से देशों में मूल निवासियों को फिर से बसाने और नागरिकता देने के कानून बने है। अमेरिका में वहां मूल निवासी जिन्हें रेड इंडियन कहा जाता था उन्हें कभी भी वापस आने पर नागरिकता दी जाती है। आस्ट्रेलिया में इसी प्रकार का कानून है। ब्रिटेन में आइरिश लोगों के लिए विशेष कानून बना हैं  ब्राजील, इटली, फ्रांस, जर्मन, रूस और स्पेन जैसे बहुत से देशों में ऐसे कानून बने है जिनके द्वारा उन देशों के मूल निवासी कभी भी अपने देश लौट सकते है उन्हें नागरिकता दी जाती है।

 

जापान वापस आने को देता है एयर टिकट

शांता कुमार ने कहा कि जापान में किसी भी अन्य देश में बसे मूल निवासी को वापस आने के लिए एयर टिकट तक दिया जाता हैं।  कोई भी जापानी दुनिया के किसी भी हिस्से में रहे अपने देश में हमेशा निशुल्क शिक्षा और स्वास्थ्य का भी अधिकारी होता है।  विश्व के लगभग सभी मुस्लिम और ईसाई देशों में इसी प्रकार के कानून है। समझ नहीं आता कि भारत द्वारा ऐसा कानून बनाने पर विपक्ष आपत्ति क्यों कर रहा है। उन्होंने कहा कि विश्व में 56 मुस्लिम देश हैं। दुनिया के किसी भी देश में मुस्लिम जा सकता है। उन्हें वहां पर सब प्रकार की सुविधा दी जाती है।

 

हिंदुओं को भारत में शरण नहीं मिलेगी तो कहां जाएंगे

पूर्व सीएम शांता कुमार ने कहा कि इस बात पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए कि यहां मुसलमानों के लिए विश्व में 56 देश है। वहां हिंदुओं के लिए पूरी दुनिया में केवल एक देश भारत है।  यदि किसी देश से पीड़ित और सताये हुए हिंदुओं को भारत में शरण नहीं मिलेगी तो ये सब कहां जाएंगे। उन्होंने कहा कि भारत के विभाजन के तुरन्त बाद यह समस्या पैदा होने लगी थी।  पाकिस्तान से प्ऱताड़ित हिन्दू आने शुरू हो गए थे।  उस समय महात्मा गांधी ने यह कहा था कि हिंदू और सिख यदि पाकिस्तान में नहीं रह सकते तो उनको भारत में नागरिकता देने और सम्मानपूर्वक जीवन देना भारत सरकार का प्रथम कर्तव्य है। उन्होने इसी को लेकर विपक्ष के नेताओं से पूछा है कि इन सब ऐतिहासिक तथ्यों के प्रकाश में उन्हें यह आंदोलन भड़काने पर जरा भी शर्म नहीं आती,भगवान उन्हें सद्बुद्धि दें।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस Link पर Click करें…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है