Covid-19 Update

2,01,210
मामले (हिमाचल)
1,95,611
मरीज ठीक हुए
3,447
मौत
30,134,445
मामले (भारत)
180,776,268
मामले (दुनिया)
×

मुहर्रम पर शिया समुदाय ने निकाला जुलूस, खून बहाकर “हुसैन की कुर्बानी” को किया याद

मुहर्रम पर शिया समुदाय ने निकाला जुलूस, खून बहाकर “हुसैन की कुर्बानी” को किया याद

- Advertisement -

शिमला। मुहर्रम के अवसर पर मंगलवार को शिया समुदाय ने मतमे हुसैन की याद में जुलूस निकला। हुसैन की याद में शिया समुदाय (Shia community) ने कृष्णानगर इमामबाड़े से बेरियर कब्रिस्तान तक ताजिया निकाला। समुदाय के लोगों ने अली या हुसैन कह कर जंजीरों से खून बहा कर हुसैन की कुर्बानी को याद किया गया। समुदाय के लोगों ने लोहे की जंजीरों व चमड़े की की बेल्ट से अपनी छाती और सिर पर वार किए, जिसमें दर्जनों युवा खून से लथपथ हो गए। जख्मी लोगों के उपचार के लिए डॉक्टर की टीम भी साथ थी।

यह भी पढ़ें :-पाकिस्तान में ईसाई लड़की से शिक्षक ने जबरन कुबूल करवाया इस्लाम


मौलाना काजमी रजा नकवी का कहना है कि आपसी भाईचारे के लिए यह जुलूस निकला जाता है। मोहम्मद हुसैन ने सभी को मिलजुल कर रहने का संदेश दिया है और आज के दिन हुसैन ने कर्बला में शहादत दी थी जिसे बड़े ग़मगीन रूप से हर साल मनाया जाता है। शिया समुदाय के लोग मुहर्रम (Muharram) के दस रोजे रखते हैं व अंतिम मुहर्रम पर जुलूस निकला जाता है। हुसैन को उनके दुश्मनों ने कर्बला में मारा था। आज के दिन हुसैन की कुर्बानियों को याद किया जाता है।

कहा जाता है कि आज के ही दिन 1430 साल पहले कर्बला के मैदान में ‘इमाम हुसैन अलै ही स्लाम’ के परिवार को यजीद नामक दुराचारी ने मौत के घाट उतार दिया था। हिंसा के खिलाफ जंग की शहादत का मातम आज भी मनाया जाता है। इसमें इमाम हुसैन के परिवार सहित 72 लोगों में छह महीने का बच्चा ‘अलीअसगर अलै ही स्लाम’ तक को यजीद ने कर्बला के मैदान में शहीद कर दिया गया।

इस दौरान छोटे से बड़े शिया समुदाय के लोग खून बहाने से जरा भी नहीं कतराते। इस दिन लोगों को अपने शरीर को कष्ट देने में दर्द नहीं होता। शिया समुदाय के लोग इसे चमत्कार मानते हैं। जुलूस ताबूत खाना में ले जाकर समाप्त किया गया। इस दौरान प्रशासन ने भी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हुए थे।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है