Covid-19 Update

2,00,603
मामले (हिमाचल)
1,94,739
मरीज ठीक हुए
3,432
मौत
29,944,783
मामले (भारत)
179,349,385
मामले (दुनिया)
×

खूबसूरत और स्वस्थ बालों के लिए लाजवाब है शिकाकाई

खूबसूरत और स्वस्थ बालों के लिए लाजवाब है शिकाकाई

- Advertisement -

बालों को लंबा और घना बनाने तथा उनकी बेहतर कंडीशनिंग के लिए प्राचीन विधियां बहुत अच्छी थीं । इनसे बालों के टूटने और असमय उनके सफेद होने का कोई खतरा नहीं रहता था। शिकाकाई को भिगोकर बनाया गया पेस्ट अच्छे कंडीशनर का काम करता था इससे बाल चमकदार हो जाते थे।  पहले महिलाएं बाल धोने के लिए शिकाकाई का ही इस्तेमाल करतीं थीं,जो बालों के लिए बेहतरीन शैम्पू का  काम करता था। शिकाकाई को रात भर भिगोने के बाद पेस्ट बनाकर बालों में लगा कर कुछ देर बाद गुनगुने या ठंडे पानी से धो लेने पर बाल नर्म और मुलायम हो जाते हैं।

शिकाकाई को आंवले और रीठे के साथ मिलाकर लगाया जाए तो यह और भी बेहतर परिणाम देता है। यह बालों को काला, लंबा और घना बनाने के साथ ही उन्हें चमकदार बनाए रखता है। शिकाकाई के नियमित प्रयोग के बालों में रूसी की समस्या में भी आराम मिलता है। शिकाकाई केवल बालों के लिए ही नहीं बल्कि त्वचा के लिए भी खासा फायदेमंद है। अगर इसके पेस्ट को चावल के पानी में मिलाकर बॉडी वॉश की तरह लगाया जाए तो यह किसी भी तरह के स्किन इंफेक्शन में आराम दिलाता है। प्राकृतिक क्लीन्ज़र के रूप में शिकाकाई लाजवाब है। यह बालों की अच्छी तरह से सफाई करने के साथ ही जुंओं को भी निकाल देता है। कई लोगों के बाल इतने घुंघराले होते हैं कि आसानी से सुलझ ही नहीं पाते, ऐसे लोगों के लिए भी शिकाकाई एक बेहतरीन उपाय है।


शिकाकाई से धुले बाल शैम्पू से धुले बालों की तुलना में आसानी से सुलझ जाते हैं, जिससे वे कम टूटते हैं। शिकाकाई इसलिए भी बालों के लिए काफी फायदेमंद है क्योंकि इसमें विटामिन ‘सी’ और ‘डी’ दोनों ही भरपूर मात्रा में होते हैं जो बालों को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। यदि आप बालों को डाई करते हैं तो भी शिकाकाई आपके लिए फायदेमंद है। आपको बस डाई लगने से पहले अपने बालों को शिकाकाई से धो लेना है और उसके बाद डाई लगानी है, इससे डाई आपके बालों में अच्छी तरह से लगेगी और ज्यादा समय तक उसका प्रभाव बना रहेगा। महंगे से महंगे शैम्पू में भी वह बात नहीं जो आंवले-शिकाकाई और रीठे के तालमेल में है। इसलिए बालों की सेहत,खूबसूरती और चमक बरकरार रखने के लिए शिकाकाई का प्रयोग करना हर लिहाज़ से बेहतर है। वैसे चाहें तो सिर्फ शिकाकाई का प्रयोग कर सकती हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है