×

शिमलाः कल बंद हो जाएगा बालजीज, मोदी भी थे इनके गुलाब जामुन के शौकीन

शिमलाः कल बंद हो जाएगा बालजीज, मोदी भी थे इनके गुलाब जामुन के शौकीन

- Advertisement -

लेखराज धरटा/शिमला। देश-दुनिया में पहचान बना चुका शिमला के मालरोड का बालजीज (baljees ) 10 जुलाई को बंद हो जाएगा। हाईकोर्ट (High court) के आदेश के बाद 15 जुलाई को बालजीज रेस्तरां के मालिकों (baljees Restaurant Owners) को इसे खाली कर संपत्ति के मालिक को सौंपना है। 1954 में इस रेस्तरां को चंद्र बालजीज ने शुरू किया था। लगभग 65 वर्ष तक बालजीज ने लोगों को अपनी सेवाएं दीं। इन 65 वर्षों में रेस्तरां ने काफी नाम भी कमाया और खुद की अलग पहचान भी बनाई। सैलानियों व स्थानीय लोग भी मालरोड पर टहलने के बाद बालजीज के गुलाब जामुन और पेस्ट्री का स्वाद चखना नहीं भूलते हैं।


यह भी पढ़ें: ट्रक ड्राइवर ने नाबालिग से किया दुराचार, फिर पिता-बहन पर दराट से वार

बालजीज के गुलाब जामुन पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को भी बहुत पसंद हैं। जब नरेंद्र मोदी हिमाचल बीजेपी के प्रभारी थे, तो यहां कई बार गुलाब जामुन का स्वाद चखने आया करते थे। हाल ही में उन्होंने नमो एप के जरिये भी बालजीज के गुलाब जामुन का जिक्र किया था। अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई, बॉलीवुड स्टार अनुपम खेर, वहीदा रहमान और प्रदेश के दिग्गज नेता वीरभद्र सिंह, शांता कुमार, प्रेम कुमार धूमल और जयराम ठाकुर भी बालजीज रेस्तरां के शौकीन हैं।

यह भी पढ़ें: आयुर्वेदिक फार्मासिस्ट की लिखित परीक्षा का रिजल्ट आउट, यह रहे सफल


रेणु बालजी ने बताया कि बालजीज की शुरुआत इंडियन खाने (Indian food) से की गई थी, जो समय के साथ बदलती रही। जैसे-जैसे लोगों की डिमांड होती रही उनकी डिमांड को पूरा करते रहे। रेस्तरां के बंद होने पर रेणु बालजी ने भी दुख जाहिर किया है। दूसरी और यहां काम करने वाले वर्कर भी काफी निराश हैं। उन्हें अपने  भविष्य की चिंता सताने लगी है।

लगभग 70 के करीब वर्कर बालजीज में काम करते हैं, जो अब रेस्तरां के बंद होने से सड़कों पर आ गए हैं। बालजीज के सबसे पुराने वेटर दौलत राम और मस्तराम ने बताया कि पिछले 41 साल से वह यहां नौकरी कर रहे थे। अब रेस्तरां के बंद होने से वे बेरोजगार होकर सड़क पर आ गए हैं। इस उम्र में कहीं दूसरी जगह नौकरी मिलना भी मुश्किल है। मजदूरों ने बताया कि उन्हें रेस्तरां मालिक की तरफ से न तो अभी तक कोई नोटिस मिला है और न ही किसी तरह पेंडिंग वित्तीय लाभों के बारे में कोई आश्वासन मिला है।

क्या था मामला

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) में बालजीज रेस्तरां को लेकर केस चल रहा था, जिसे हाईकोर्ट शिफ्ट किया गया था। संपत्ति मालिक रेस्तरां मालिक से ज्यादा किराए की मांग कर रहे थे, वर्तमान में इस रेस्तरां का 1.5 लाख महीना किराया है। संपत्ति मालिक 25 लाख तक की मांग कर रहे थे। ऐसे में दोनों के बीच में बात नहीं बनी और हाईकोर्ट ने रेस्तरां की संचालिका रेणु बालजी के लिए 10 जुलाई को अंतिम वर्किंग डे तय किया है। पांच दिन इसे खाली करने के लिए रखे गए हैं। 15 जुलाई को रेणु बालजीज रेस्तरां को संपत्ति मालिक को सौंप देंगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है