Covid-19 Update

2,00,603
मामले (हिमाचल)
1,94,739
मरीज ठीक हुए
3,432
मौत
29,944,783
मामले (भारत)
179,349,385
मामले (दुनिया)
×

शिमला दुराचार मामले की जांच फॉरेंसिक रिपोर्ट पर अटकी

शिमला दुराचार मामले की जांच फॉरेंसिक रिपोर्ट पर अटकी

- Advertisement -

शिमला। युवती के अपहरण कर दुष्कर्म मामले की एसआईटी (SIT) जांच फॉरेंसिक रिपोर्ट (Forensic report) पर अटक गई है। एसआईटी को फॉरेंसिक लैब से आने वाली रिपोर्ट का इंतजार है। क्योंकि अभी तक की जांच में एसआईटी के हाथ ऐसा कोई सुराग नहीं लग पाया है, जिसके दम पर एसआईटी युवती के अपहरण कर दुष्कर्म (Rape) की इस अनसुलझी पहेली को सुलझा सके। पुलिस की जांच के लिए गठित एसआईटी का दावा है कि जब तक मौके पर से लिए गए साक्ष्य के चिकित्सा परीक्षण कर रिपोर्ट फॉरेंसिक लैब से नहीं आ जाती तब तक इस मामले में जांच को आगे नही बढ़ाया जा सकता।

 


यह भी पढ़ें: जवाली : पिस्तौल और चाकू की नोक पर पेट्रोल पंप से लूटे 50 हजार

दरअसल अभी तक एसआईटी युवती के अपहरण कर दुष्कर्म मामले की जांच में अंधेरे में ही तीर मार रही है। एसआईटी 22 दिन से जांच कर रही है, लेकिन एसआईटी जांच का नतीजा अभी तक शून्य ही है। एसआईटी अभी तक न तो गाड़ी को ट्रेस ( Trace) कर पाई है और न ही अपहरण और रेप करने वाले आरोपियों का सुराग लगा पाई है। हालांकि एसआईटी इस मामले में रोज शक के आधार पर संदिग्धों से पूछताछ कर रही है। इसके अलावा सीडीआर, सीसीटीवी फुटेज और डंप विश्लेषण किया जा चुका है।

पीड़िता के बताए अनुसार बनाए स्कैच की तलाश को भेजी टीमें

पीड़िता के बताए अनुसार उसकी उपस्थिति में एक स्कैच (sketch) तैयार किया गया था। उसकी तलाश के लिए अलग-अलग दिशाओं में टीमें भेजी गईं। एसआईटी इस मामले में पीड़िता के दोस्तों और घटना के प्रासंगिक समय के दौरान मौके पर मौजूद छह गवाहों के बयान भी दर्ज कर चुकी है। एसआईटी प्रमुख परवीर ठाकुर का कहना है कि महिलाओं के प्रति अपराध की संवेदनशीलता को देखते हुए इस मामले में नियमित मीडिया ब्रीफ संभव नहीं है।

 

पीड़िता के ब्यान में उलझी एसआईटी

एसआईटी की जांच सिर्फ अभी तक पीड़िता के बयान में ही उलझ कर रह गई है। एसआईटी के लिए यही जांच का विषय बना हुआ है कि आखिर पीड़िता के बयान क्यों मेल नहीं खा रहे हैं। चूंकि पुलिस में दी गई शिकायत में पीड़िता ने आरोप लगाया था कि बीते 28 अप्रैल देर रात को एक कार में सवार तीन अज्ञात आरोपियों ने शिव मंदिर के पास से उसका अपहरण (Kidnap) किया और एक युवक ने उसके साथ दुराचार (Rape) किया फिर नग्न अवस्था में उसे गाड़ी से बाहर धकेल कर आरोपी फरार हो गए।

यह भी पढ़ें: ऊना : मोदी का मुरीद मिठाई वाला, मुखौटे पहनवाकर बनवा रहा स्पेशल लड्डू

जबकि पुलिस जांच में यह सामने आया कि शिव मंदिर के पास से युवती का गाड़ी में अपहरण नहीं हुआ है। क्योंकि युवती सीसीटीवी फुटेज (CCTV Footage) में शिव मंदिर से गाहन गांव तक पैदल चलती नजर आ रही है। सीसीटीवी फुटेज देखने पर शिव मंदिर के पास गाड़ी में पीड़िता के अपहरण का पुलिस की एसआईटी को भी साक्ष्य नहीं मिला है। इस मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए सरकार ने 30 अप्रैल को इस पूरे मामले की जांच पड़ताल के लिए एसआईटी का गठन किया था।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है