×

‘India अगर Pakistan के लिए 10,000 वेंटिलेटर बनाता है तो हम उसे हमेशा याद रखेंगे’

‘India अगर Pakistan के लिए 10,000 वेंटिलेटर बनाता है तो हम उसे हमेशा याद रखेंगे’

- Advertisement -

नई दिल्ली। चीन के वुहान से उपजे कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर पूरी दुनिया में जारी है। पाकिस्तान में भी कोरोनावायरस ( Coronavirus In Pakistan) बुरी तरह से फैल चुका है। ऐसे में पाकिस्तान दूसरे देशों से मदद की गुहार लगा रहा है। ऐसे में पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) ने कोरोना से लड़ने के लिए भारत और पाकिस्तान के बीच 3 चैरिटी मैच की सीरीज कराने का प्रस्ताव रखा है। यह बात उन्होंने अपने यूट्यूब चैनल पर बुधवार को कही। साथ ही उन्होंने भारत से मदद के तौर पर 10 हजार वेंटिलेटर (Ventilator) भी मांगे।


यह भी पढ़ें: 12th परीक्षा में ना बैठने वाले स्टूडेंट्स भी कर सकेंगे CA के लिए आवेदन

कोविड-19 संकट के बीच पूर्व पाकिस्तानी पेसर शोएब अख्तर ने भारत-पाकिस्तान को साथ आकर एक-दूसरे का साथ देने का निवेदन किया है। उन्होंने कहा, ‘भारत अगर पाकिस्तान के लिए 10,000 वेंटिलेटर बना सकता है तो पाकिस्तान इसे हमेशा याद रखेगा।’ वहीँ कोरोना वायरस से प्रभावितों की मदद के लिए धन जुटाने हेतु भारत और पाकिस्तान के बीच 3 चैरिटी मैच की सीरीज कराने का प्रस्ताव रखते हुए उन्होंने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच तीन वनडे मैचों की सीरीज कराई जानी चाहिए जिससे काफी पैसा एकत्रित हो सकता है जो इस महामारी के समय में पीड़ितों के काम आएगा। दोनों देशों के तनावपूर्ण संबंधों के चलते कई सालों से इनके बीच कोई द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज नहीं खेली गई हैं। ये दोनों टीमें एशिया कप के अलावा आईसीसी के टूर्नामेंट्स में ही एक-दूसरे के खिलाफ खेलती रही हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है