Covid-19 Update

2,04,685
मामले (हिमाचल)
2,00,233
मरीज ठीक हुए
3,491
मौत
31,219,374
मामले (भारत)
192,489,942
मामले (दुनिया)
×

श्रावण अष्टमी नवरात्र मेले शुरू, शक्तिपीठों में लगी भक्तों की कतारें

श्रावण अष्टमी नवरात्र मेले शुरू, शक्तिपीठों में लगी भक्तों की कतारें

- Advertisement -

बिलासपुर। प्रदेश के सभी शक्तिपीठों पर श्रावण अष्टमी नवरात्र मेले रविवार से शुरू हो गए। पहले दिन रविवार होने के कारण शक्तिपीठों में सुबह से ही भारी संख्या में श्रद्धालु सुबह से कतारों में लगे गुए हैं। चामुंडा मंदिर, बज्रेश्वरी मंदिर कांगड़ा, ज्वालामुखी, चिंतपूर्णी व नैना देवी मंदिर में बारिश के बावजूद भक्त दर्शनों के लिए पहुंच रहे हैं। श्रावण अष्टमी नवरात्र मेले 12 से 20 अगस्त तक चलेंगे।

इस दौरान सभी शक्तिपीठों में हिमाचल ही नहीं पड़ोसी राज्यों पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, यूपी, बिहार आदि प्रदेशों से लाखों की संख्या में श्रद्धालु पूजा-अर्चना के लिए पहुंचते हैं। इन शक्तिपीठों पर प्रदेश सरकार के दिशा-निर्देशों से सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं। इसके अलावा बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए पुख्ता इंतजाम किए हैं।


नैना देवी पहुंचे पुलिस महानिदेशक सीता राम मरड़ी

नैना देवी में नवरात्र मेला सुबह की आरती के साथ शुरू हुआ। यहां पर तेज बारिश के बावजूद आस्था का सैलाब उमड़ रहा हैं। पुलिस महानिदेशक सीता राम मरड़ी ने सुबह-सवेरे नैना देवी पहुंच कर मां के चरणों में शीश नवाया। इसके बाद उन्होंने यहां पर श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए किए गए प्रबंधों का जायजा लिया।

पर्ची सिस्टम से हो रहे चिंतपूर्णी में दर्शन

देश-विदेश से मंगवाए गए रंग-बिरंगे फूलों से चिंतपूर्णी मंदिर को सजाया गया है। श्रावण अष्टमी नवरात्र के पहले दिन ही मां की पवित्र पिंडी के दर्शन करने के लिए देश-विदेश से श्रद्धालुओं का आगमन शुरू हो गया है। नवरात्रों में भीड़ को देखते हुए प्रशासन द्वारा मां के भक्तों को पर्ची सिस्टम के जरिये ही दर्शन करवाए जा रहे हैं। पुलिस द्वारा मेले के दौरान सुरक्षा में 1200 के करीब सुरक्षा कर्मियों की तैनाती की गई हैं। सुरक्षा के मद्देनजर मंदिर न्यास द्वारा मेला क्षेत्र में सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं। मेले के पहले दिन हजारों की तादाद में श्रद्धालुओं ने माता की पवित्र पिंडी के दर्शन किये। भारी बरसात के बावजूद श्रद्धालुओं की आस्था देखते ही बनती है। मंदिर के पुजारी ने बताया कि श्रावण नवरात्र का मेला विशेष महत्त्व रखता है क्योंकि इन नवरात्रों में सभी देवियां चिंतपूर्णी में इकट्ठी होती है और श्रद्धालुओं को आशीर्वाद देती है। मेला अधिकारी पीसी अकेला ने बताया कि नवरात्र मेला के लिए पुलिस तथा होमगार्ड के लगभग 1200 जवान चप्पे-चप्पे पर तैनात किए गए हैं। वहीं, मेला क्षेत्र को 10 सेक्टरों में बांटा गया है। उन्होंने माना कि पहले दिन सुरक्षा कर्मियों की कमी के चलते कुछ स्थानों पर समस्या पेश आई है लेकिन जल्द ही इन समस्यायों को सुलझा लिया जाएगा।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है