Covid-19 Update

1,99,430
मामले (हिमाचल)
1,92,256
मरीज ठीक हुए
3,398
मौत
29,685,946
मामले (भारत)
177,559,790
मामले (दुनिया)
×

पुलिस की पिटाई से जेल में बंद बीमार कैदी की मौत, लोगों ने किया हंगामा

पुलिस की पिटाई से जेल में बंद बीमार कैदी की मौत, लोगों ने किया हंगामा

- Advertisement -

नई दिल्ली। राजस्थान (Rajsthan) के कस्बा निवासी मोहम्मद रमजान की पुलिस (Police) की पिटाई के कारण जेल (Jail) में ही मौत हो गई। बताया जा रहा है कि कैदी को गंभीर बीमारी (Sicness) के चलते कुछ दिन पहले ही कोटा के मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया था। सोशल मीड‍िया पर यह कहा जा रहा है क‍ि बारां जेल, राजस्थान में बंद कैदी रमजान को अस्पताल के गार्ड्स ने जान से मार दिया क्योंकि उसके चेहरे पर दाढ़ी थी। मरने से पहले रमजान के घर वालों ने उनका इकबालिया बयान दर्ज किया है। जिसके चलते वह हंगामा कर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें- प्रॉपर्टी के लालच में कर दी चाचा की हत्या, आरोपी गिरफ्तार

कैदी के एक करीबी ने बताया कि गंभीर बीमारी के चलते उसे अस्पताल (Hospital) में भर्ती किया गया था। वहां ड्यूटी (Duty) पर तैनात लोगों ने उसके साथ मारपीट की और जब तबीयत बिगड़ी तो उसे जयपुर (Jaipur) एसएमएस रेफर कर दिया। वहां भी पुलिस कर्मियों ने कैदी को बिना इलाज पूरा किए डिस्चार्ज (Discharge) करवा लिया। जिसके बाद उसे जेल में डाल दिया गया जहां उसकी मौत हो गई। कैदी के परिजन के अब पुलिस पर हत्या का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। मोहम्मद रमजान बारां जेल में दो वर्ष की सजा काट रहा था।


यह भी पढ़ें- पंचकूलाः रेप के बाद युवती की हत्या, मनसा देवी मंदिर के पास मिली अधजली लाश

परिजनों ने कैदियों और पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर लोगों ने प्रदर्शन करते हुए कहा है कि राजस्थान की बारां जेल में बंद कैदी रमजान की अस्पताल के गार्ड्स (Guards) ने पिटाई की थी। स्थानीय लोगों और मुस्लिम समाज ने कैदी मोहम्मद रमजान की मौत के मामले की जांच (Inspection) करने और दोषी लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग उठाई है। कस्बा निवासी मोहम्मद रमजान को कई वर्षों पूर्व मारपीट के एक मामले में कोर्ट ने 2 साल की सजा सुनाई थी।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Like करें हिमाचल अभी अभी का Facebook Page…. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है