Covid-19 Update

2,06,369
मामले (हिमाचल)
2,01,520
मरीज ठीक हुए
3,506
मौत
31,723,560
मामले (भारत)
199,307,256
मामले (दुनिया)
×

ढली दुराचार मामलाः एसआईटी गठित, पुलिस कर्मियों की लापरवाही की होगी न्यायिक जांच

ढली दुराचार मामलाः एसआईटी गठित, पुलिस कर्मियों की लापरवाही की होगी न्यायिक जांच

- Advertisement -

शिमला। ढली दुराचार मामले की जांच को पुलिस (Police) ने एसआईटी (SIT) गठित कर दी है। एएसपी प्रवीर ठाकुर की अध्यक्षता में यह एसआईटी गठित की गई है। पुलिस महानिदेशक एसआर मरड़ी ने मंगलवार को ढली थाने सहित घटना स्थल का दौरा कर एसआईटी गठित करने के निर्देश दिए। ऐसे में एएसपी शिमला प्रवीर ठाकुर की अध्यक्षता में पांच सदस्यीय एसआईटी का गठन किया गया। एसआईटी ने अपनी जांच शुरू कर दी है। इसके साथ ही राज्य सरकार ने लक्कड़ बाजार पुलिस चौकी के कर्मियों पर लग रहे कथित लापरवाही के आरोपों की न्यायिक जांच के आदेश दे दिए हैं। प्रदेश पुलिस महानिदेशक एसआर मरड़ी ने जांच के लिए एसआईटी गठित किए जाने की पुष्टि की है।

यह भी पढ़ेंः बीजेपी ने लगाया आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप, कहा-रद्द हो काजल का नामांकन

एसआईटी का गठन अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रवीर ठाकुर की अध्यक्षता में किया गया है। इसके साथ ही अतिरिक्त मुख्य सचिव श्रीकांत बाल्दी ने मंगलवार को इस मामले पर अधिकारियों के साथ बैठक की। सचिवालय में आयोजित हुई इस बैठक में गृह विभाग के अधिकारी भी मौजूद रहे। सूचना के अनुसार इस दौरान एसपी शिमला (SP Shimla) ने अब तक अमल में लाई गई जांच की जानकारी दी। उन्होंने जांच के दौरान सीसीटीवी कैमरों से जुटाई गई वीड़ियों फुटेज से मिले तथ्यों के बारे में अवगत करवाया। इस दौरान अतिरिक्त मुख्य सचिव बाल्दी ने अधिकारियों को जल्द मामले से जुड़े दोषियों को पकड़ने के निर्देश दिए। दूसरी तरफ पीड़ित युवती ने सीजेएम कोर्ट चक्कर में भी अपना बयान दर्ज करवा दिया है।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Like करें हिमाचल अभी अभी का Facebook Page….

ऐसे में अब पुलिस एसआईटी हर पहलुओं की जांच कर रही है। बताया गया कि सीएम जयराम ठाकुर ने दुष्कर्म से जुड़े इस मामले में प्रदेश पुलिस महानिदेशक को कड़ी कारवाई के निर्देश दिए हैं। सीएम ने डीजीपी से फोन पर बातचीत की और पुलिस जांच का पूरा अपडेट लिया। डीजीपी सीता राम मरड़ी ने कहा कि शिमला में हुए रेप मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित कर दी है, हमारी टीम जांच में जुट गई है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है