×

SIU स्टाफ पर हमले के आरोपी Police रिमांड पर

SIU स्टाफ पर हमले के आरोपी Police रिमांड पर

- Advertisement -

ऊना। जिला मुख्यालय के समीपवर्ती रक्कड़ कॉलोनी स्थित ग्रीन एवेन्यू में नाके पर मौजूद एसआईयू इंचार्ज और स्टाफ सदस्यों पर जानलेवा हमला करने के आरोपियों को कोर्ट ने 13 फरवरी तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। वीरवार को तीनों की एक दिन की पुलिस रिमांड अवधी खत्म होने के बाद कोर्ट में पेश किया गया था। गौरतलब है कि 7 फरवरी को हुई घटना के दौरान पुलिस के एसआईयू विंग ने नशीले पदार्थों की तस्करी किए जाने की गुप्त सूचना मिलने के बाद ग्रीन एवेन्यू में नाकेबंदी की हुई थी।


  • अदालत ने 13 फरवरी तक भेजा रिमांड पर

इसी दौरान एक कार वहां आई, जिसे रुकने का इशारा किया गया। लेकिन, कार चालक पंकज कुमार ने रुकने की वजाय पुलिस की गाड़ियों को टक्कर मारते हुए गाड़ी मौके से भगा ली। घटना में एसआईयू के इंचार्ज अंकुश डोगरा और एक अन्य जवान बुरी तरह घायल हो गए थे। बाद में पुलिस ने अलग-अलग नाकेबंदियों में आरोपी पंकज निवासी ग्रीन एवेन्यू रक्कड़ कॉलोनी, अजय कुमार निवासी बरनोह और समित चंद निवासी भड़ोलियां कलां को अरेस्ट कर लिया था, जिनके खिलाफ धारा 353, 332, 307 व 427 के तहत केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी। एसपी अनुपम शर्मा ने बताया कि नशीले पदार्थों के खिलाफ पुलिस जीरो टॉलरेंस की नीति अपना रही है। इसके तहत कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जा रही है। आरोपियों से पूछताछ जारी है।

Jeep से देवदार के दस नग बरामद, तीन गिरफ्तार

गोहर। क्षेत्र में देवदार की अवैध तस्करी का कारोबार थमने का नाम नहीं ले रहा है। ताजा मामले में गोहर पुलिस ने  निहरी से जीप में तस्करी कर ले जाए जा रहे देवदार के दस नग नाके के दौरान सुक्कीबांई के समीप मांढो नाला में बरामद किए हैं। पुलिस ने जीप और देवदार की अवैध लकड़ी को कब्जे में ले लिया है और जीप में सवार तीन लोगों को हिरासत में लेकर वन अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। तस्करों की पहचान गोहर पुलिस ने निहरी के गांव संगलाच निवासी रोशन, पनयाली निवासी मुरारी और निहांडी निवासी नरेश के रूप में की है। एसएचओ गोहर चांद किशोर ने केस दर्ज करने की पुष्टि की है।

  • सुक्कीबांई के समीप मांढो नाला में नाके के दौरान पकड़े

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार वीरवार सुबह गोहर पुलिस ने एसएचओ चांद किशोर के नेतृत्व में मांढो नाला के पास नाका लगाया हुआ था। जहां बाढू की तरफ से आ रही एक जीप को जब पुलिस ने तलाशी के लिए रोका तो उसमें सीट के नीचे देवदार के दस नग छिपाए हुए थे। जीप में सवार चालक समेत तीन लोगों से जब पुलिस ने परमिट मांगा तो वे कुछ नहीं दिखा पाए। पुलिस ने अवैध लकड़ी और जीप समेत तीनों लोगों को हिरासत में ले लिया है तथा वन अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस ने वन विभाग को भी सूचित कर दिया तथा वन विभाग ने भी कार्रवाई शुरू कर दी है। बाजार में देवदार की लकड़ी की कीमत करीब 40 हजार रुपए बताई जा रही है। 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है