Expand

थप्पड़…की गूंज

थप्पड़…की गूंज

- Advertisement -

कही-अनकही/अनल पत्रवाल। थप्पड़ पड़ा या नहीं किसने देखा…पर उसकी गूंज हर किसी ने सुनी। थप्पड़ कितना असरदार हो सकता है…यह किसी के गाल पर ही नहीं दर्शाता बल्कि मानसिक तौर पर भी असर करता है। थप्पड़…कांगड़ा में तकिया कलाम बन चुका है। हर किसी की जुबान पर थप्पड़ शब्द निकलकर बाहर आ रहा है। यह वही थप्पड़ है जिसकी गूंज विधानसभा चुनाव तक होती रहेगी। संकेत साफ है, सीपीएस नीरज भारती ने किसी तरह की लुका-छिपी नहीं की, हर बात को साफ कर दिया। यह वही थप्पड़ है जो जन्माष्टमी से गूंज रहा है, पर इसका असर अब जाकर दिखना शुरू हो चुका है।

slap3कितना ताकतवर होता है थप्पड़ यह तो मंदल में सजा भारतीय क्षत्रिय घृत बाहती चाहंग महासभा का मंच बता भी रहा था तो जता भी रहा था। एकजुट हो गई ओबीसी…गिले-शिकवे भुला दिए। बड़ी बात तो यह है कि ओबीसी से ताल्लुक रखने वाले सीपीएस नीरज भारती व विधायक पवन काजल को भी इक्टठा कर दिया इसी थप्पड़ ने। कहां, जन्माष्टमी पर यह कहा जा रहा था कि एक-दूसरे से दोनों भिड़ गए, थप्पड़ मार दिया। अब वह क्या माजरा था, वह तो पीछे छूट गया, थप्पड़ बहुत आगे निकल गया। थप्पड़ की गूंज कहां-कहां तक हो सकती है…यह तो हर कोई समझने लगा है, क्योंकि अब थप्पड़ के नाम पर कांगड़ा की राजनीति आगे बढ़ने लगी है।

slap“ओबीसी इस थप्पड़ ने इक्टठी कर दी है तो इनके हितों की बात भी होने लगी है। अब सुनते रहना इस थप्पड़ की गूंज को…देखते रहने इसकी छाप को। थ…प्पड़…थप्पड़…।”

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है