स्मार्ट धर्मशालाः कमांड कंट्रोल सेंटर को अभी तक नहीं मिल पाई मंजूरी

मेयर देवेंद्र जग्गी व डिप्टी मेयर औंकार नैहरिया ने दी जानकारी

स्मार्ट धर्मशालाः कमांड कंट्रोल सेंटर को अभी तक नहीं मिल पाई मंजूरी

- Advertisement -

धर्मशाला। नगर निगम क्षेत्र में अभी तक धरातल पर स्मार्ट सिटी के तहत कोई काम शुरू नहीं हो पाया है। यह बात धर्मशाला नगर निगम के मेयर देवेंद्र जग्गी व डिप्टी मेयर औंकार नैहरिया ने मीडिया से बातचीत में कही। स्मार्ट सिटी धर्मशाला में बहुत से कार्य होने हैं, लेकिन सरकार से सकारात्मक सहयोग नहीं मिलने की वजह से इनमें देरी हो रही है। स्मार्ट वॉल और कमांड कंट्रोल सेंटर को अभी तक सरकार की अप्रूवल नहीं मिल पाई है। वहीं अन्य कार्यों में भी सहयोग नहीं मिल पाने की वजह से देरी हो रही है।

यह भी पढ़ेंः 7 करोड़ का बिल पेमेंट नहीं हुआ तो जर्मन दूतावास ने धर्मशाला स्मार्ट सिटी को दिखाया आइना  

सरकार से आग्रह है कि जनहित में इन कार्यों को लटकाया न जाए और धर्मशाला को स्मार्ट सिटी बनाने में सहयोग दें। दोनों पदाधिकारियों ने माना कि धर्मशाला में स्मार्ट सिटी का काम काफी धीमा है, जबकि केंद सरकार ने ढाई साल पहले वर्ष 2016 में ही धर्मशाला को स्मार्ट सिटी बनाने की घोषणा की थी। धर्मशाला शहर को स्मार्ट बनाने का सपना टूटता नजर आ रहा है। शहर को 2109 करोड़ रुपए से स्मार्ट बनाने की योजना है। विकास कार्यों के प्रति अधिकारियों की संजीदगी का आलम यह है कि छोटे-मोटे कार्य में ही अपनी पीठ थपथपा रहे हैं। स्मार्ट सिटी के क्षेत्र में प्रशासन कोई खास प्रगति से कार्य नहीं कर पाया है। पीएमसी फंक्शन में आई तो है, लेकिन वह अभी तक प्रोजेक्ट्स की रूपरेखा तैयार करने में ही लगी हुई है। लोगों को फिलहाल शहर को स्मार्टनेस से जुड़ा कोई काम नजर नहीं आ रहा है।

धर्मशाला को स्मार्ट सिटी में बदलने के लिए धर्मशाला स्मार्ट सिटी लिमिटेड (डीएससीएल) का गठन किया गया है। इसका काम परियोजनाएं तैयार करने से लेकर इसे जमीन पर उतारने और इसकी निगरानी करना है। यह भारतीय कंपनी अधिनियम 2013 के तहत पंजीकृत कंपनी है जिसमें प्रदेश सरकार भागीदार है। इसी कड़ी में सीएम जयराम ठाकुर ने 21 जनवरी को 145 करोड़ के प्रोजेक्टों का एक ही दिन शिलान्यास और शुभारंभ किया था। इनमें धर्मशाला स्मार्ट सिटी लिमिटेड की वेबसाइट, ई-नगरपालिका,रूफ टॉप सोलर प्लांट परियोजना,स्मार्ट रोड, स्मार्ट क्लास रूम व् कमांड एंड कंट्रोल सेंटर का शिलान्यास रखा गया था। लेकिन इनमें से भी केवल 10 करोड़ रुपए की स्मार्ट रोड परियोजना की ही प्रदेश सरकार से अप्रूवल मिली है शेष तीन प्रमुख योजनाओं की अप्रूवल अभी भी नहीं मिल पाई है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है