Covid-19 Update

57,257
मामले (हिमाचल)
55,919
मरीज ठीक हुए
961
मौत
10,689,202
मामले (भारत)
100,486,817
मामले (दुनिया)

Snowfall: मनाली-सोलंग में फंसे 300 वाहन, जाम हुआ आम

Snowfall: मनाली-सोलंग में फंसे 300 वाहन, जाम हुआ आम

- Advertisement -

कुल्लू। पर्यटन नगरी मनाली के सोलंगनाला और मनाली के बीच करीब 300 वाहन फंस गए हैं। भारी बर्फबारी होने के कारण सड़क में वाहनों की आवाजाही मुश्किल हो गई है। जिस कारण मनाली से लेकर सोलंगनाला तक जाम की स्थिति पैदा हो गई है। जानकारी के अनुसार शुक्रवार दोपहर बाद मनाली और इसके आसपास के क्षेत्रों में बर्फबारी का दौर शुरू हुआ है और इस दौरान सोलंगनाला तथा पलचान घुमने गए पर्यटकों के  वाहन अचानक जाम में फंस गए। लगातार हो रही बर्फबारी के कारण सड़क में फिसलन की स्थिति पैदा हो गई है। जिस कारण वाहनों की आवाजाही मुशिकल हो गई है। दौरान ट्रैफिक पुलिस भी यातायात को बहाल रखने में असफल साबित हुई है। manali-4जानकारी के अनुसार यह जाम शुक्रवार दोपहर बाद करीब तीन बजे से लगा हुआ है।

  • बर्फबारी से सड़कों पर  फिसलन, जाम की स्थिति
  • हालात सुधारने में जुटा प्रशासन

बर्फबारी के कारण लगे इस जाम में सैकड़ों पर्यटक फंसे हुए बताए जा रहे हैं। हालांकि प्रशासन की तरफ से यातायात जाम को बहाल करने की कोशिश की जा रही है, लेकिन लगातार हो रही बर्फबारी के कारण वाहन जगह.जगह फिसल रहे हैं। जिस कारण जाम की स्थिति और विकराल होती जा रही है। उधर, डीएसपी मनाली पुनीत रघु का कहना है कि मनाली से लेकर पलचान तक जाम की स्थिति बनी हुई है। पुलिस जवान यातायात बहाल करने में जुटे हुए हैं। उन्होंने बताया कि जाम को बहाल करने के लिए बीआरओ से भी मदद मांगी गई है। लिहाजा बीआरओ के जवान पुलिस जवानों के वाहनों को निकालने में जुटे हुए हैं। उन्होंने बताया कि उम्मीद जताई जा रही है कि देर रात तक तमाम वाहनों को मनाली पहुंचा दिया जाएगा।

shimlaप्रदेश में ठंड का प्रकोप

शिमलालम्बे अंतराल के बाद राज्य में  हुई बपपर्फबारी और बारिश से ठंड का प्रकोप बढ़ गया है। प्रदेश के ऊंचाई वाले हिस्से शीत लहर की चपेट में हैं। पहाड़ों ने सफ़ेद चादर ओढ़ ली है। प्रशासन ने लोगों से घरों से निकलते हुए एहतियात बरतने की सलाह दी है। किन्नौर, लाहुल, और भरमौर की अधिकतर पहाड़ियां सफेद हो गई हैं। जनजातीय क्षेत्रों में प्रचंड ठंड हो गई है।  अधिक ऊंचाई वाले इलाको में यातायात ठप हो गया है।  उल्लेखनीय है कि मौसम विभाग की ओर से तीन दिनों तक राज्य के सात जिलों में भारी बारिश और बर्फबारी होने की चेतावनी दी थी।  बर्फबारी के बाद शिमला जिला के कुफरी, नारकंडा, खड़ापथर, चौपाल और किन्नौर के भावा, कल्पा,  सांगला,  कुल्लू के जलोड़ी जोत, रोहतांग,  समेत लाहुल के कई इलाके बर्फ में कैद  हो गए हैं।

shimla-2समूचे आनी क्षेत्र में मौसम एक फिर से मेहरबान हुआ है। शुक्रवार दोपहर बाद तापमान में एकाएक गिरावट आने से ऊंचाई वाले क्षेत्रों में रूकरूक कर बर्षा हुई और क्षेत्र के प्रमुख दर्रे जलोड़ी जोत सहित साथ लगती अन्य पहाड़ियों पर हिमपात हुआ। प्राप्त जानकारी के अनुसार एनएच-305 के मध्य 10280 फीट की ऊंचाई पर स्थित प्रमुख जलोडी दर्रे पर शुक्रवार को छह इंच ताजा हिमपात हुआ है,जिससे घाटी में शीतलहर दौड गई है।

ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों ने ठंड से बचाव के लिए बुखारी जलाना शुरू कर दिया है। जलोडी दर्रे पर हिमपात होने से एनएच 305 सड़क मार्ग में आनी-कुल्लू के मध्य यातायात थम गया है। बारिश व हिमपात होने से किसानों व बागबानों में खुशी की लहर है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है