Covid-19 Update

58,460
मामले (हिमाचल)
57,260
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,063,038
मामले (भारत)
113,544,338
मामले (दुनिया)

लो खत्म हुआ सूखा : Shimla समेत प्रदेश की ऊंची चोटियों पर Snowfall शुरू

लो खत्म हुआ सूखा : Shimla समेत प्रदेश की ऊंची चोटियों पर Snowfall शुरू

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी/टीम। आखिरकार मौसम ने मंगलवार को अपने तेवर बदले और एक माह से अधिक का सूखा खत्म हो गया। सुबह से चल रही शीतलहर के बीच दोपहर बाद राजधानी सहित ऊंची चोटियों पर बर्फ गिरनी शुरू हो गई। प्रदेश के मैदानी इलाकों में जहां बारिश हो रही है  वहीं ऊंची चोटियों पर बर्फ से सराबोर होने लगी है। प्रदेश के दुर्गम इलाकों, धौलाधार की पहाड़ियों, रोहतांग सहित राजधानी शिमला, संजौली, ढली, छराबड़ा, कुफरी, फागू, नारकंडा में बर्फबारी शुरु हो गई है।

जाहिर है कि हिमाचल में एक माह से ज्यादा समय से बारिश व बर्फबारी नहीं हुई थी। हालांकि राज्य के कुछ पर्वतीय इलाकों में 11 दिसंबर को हिमपात हुआ था। मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटों के दौरान राज्य के मैदानी क्षेत्रों में बारिश और मध्यवर्ती व अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में कुछ स्थानों पर तेज बारिश और बर्फ़बारी की संभावना जताई है। राज्य के अन्य कुछ शहरों का न्यूनतम तापमान शून्य के आसपास दर्ज किया गया। इन शहरों में भुंतर में 0.1, कल्पा में 1.4, सुंदरनगर में 1.5, सोलन में 1.8, चंबा में 2, मंडी में 2.6, बिलासपुर में 2.9, हमीरपुर में 3.9 और कांगड़ा में 4.9 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ।

चौंकाने वाली बात यह है कि सर्द रहने वाली राजधानी शिमला में ठंड से राहत मिल रही है। शिमला में आज न्यूनतम तापमान 6 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ और यह सामान्य से 4 डिग्री अधिक है। उधर, जिला बिलासपुर के श्री नैना देवी और स्वारघाट की ऊंची पहाड़ियों पर हो रही बारिश का पर्यटक आनंद उठा रहे हैं। ठंडी तेज हवाओं के बाबजूद काफी संख्या में श्रद्धालु मां के दरबार पहुंचे।

किसानों को था बर्फबारी का इंतजार

जाहिर है कि राज्य में किसान और बागबान बड़ी बेसब्री से बर्फबारी का इंतजार कर रहे थे। काफी समय के बाद बारिश होने के बाद किसानों और बागवानों में ख़ुशी की लहर हैं। फसल के लिए ये बारिश संजीवनी का काम करेगी। इस बर्फबारी से किसानों और बागवानों मे राहत की सांस ली है। किसान और बागवान सूखे से परेशान थे और बारिश और बर्फबारी की बड़ी बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। अब उनका इंतजार खत्म हुआ है।

बारिश और बर्फबारी न होने से खेती से संबंधित कार्य नहीं हो रहे थे और बागवान न तो बगीचों में खाद डाल पा रहे थे और न ही तौलिए बना पा रहे थे। बर्फबारी होने से अभी यातायात सुचारू है, लेकिन यदि ज्यादा बर्फ गिरी तो ऊपरी शिमला की तरफ यातायात बाधित हो सकता है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है