Covid-19 Update

2,05,874
मामले (हिमाचल)
2,01,199
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,612,794
मामले (भारत)
198,030,137
मामले (दुनिया)
×

Solar Energy City के रूप में विकसित होंगे Shimla-Hamirpur

Solar Energy City के रूप में विकसित होंगे Shimla-Hamirpur

- Advertisement -

Solar Energy City : नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय ने पास किया प्रस्ताव

Solar Energy City: धर्मशाला। गैर पारंपरिक ऊर्जा स्त्रोतों के उपयोग को बढ़ावा देने की दिशा में प्रदेश सरकार तेजी से कार्य कर रही है। इसी कड़ी में प्रत्येक ग्रामीण क्षेत्र में सोलर लाइटें लगाई जा रही हैं। प्रदेश के अधिकतर ग्रामीण क्षेत्रों में यह लाइटें स्थापित की जा चुकी हैं। इन लाइट्स के लगने के बाद गांवों की अंधेरी रहने वाली गलियों में रात को दूधिया रोशनी रहती है। इसी दिशा में आगे बढ़ते हुए प्रदेश सरकार शिमला और हमीरपुर शहर को सौर ऊर्जा शहर के रूप में विकसित करने के लिए प्रयासरत है। इन शहरों को ऊर्जा शहर के रूप में विकसित करने के लिए प्रदेश सरकार ने नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय भारत सरकार को प्रस्ताव भी भेजा था। प्रस्ताव के अनुरूप शिमला शहर को सौर ऊर्जा शहर के रूप में विकसित करने की कवायद शुरू हो गई है।

शिमला में स्थापित होंगे 55 किलोवाट के सोलर पावर प्लांट

इस योजना के अनुसार शिमला शहर में विभिन्न स्थानों पर 55 किलोवाट क्षमता के सोलर पावर प्लांट स्थापित किए जाएंगे। प्राप्त जानकारी के अनुसार इस योजना के तहत पंचायत भवन शिमला में 15 किलोवाट क्षमता का सोलर पावर प्लांट, पुराना बस अड्डा शिमला में 20 किलोवाट क्षमता का सोलर पावर प्लांट और रिज मैदान शिमला में 20 किलोवाट क्षमता का सोलर पावर प्लांट स्थापित किया जाना है।इसके अलावा शिमला शहर की मलिन बस्तियों के लिए 1790 घरेलू सौर रोशनियां लगाना भी इस योजना के तहत प्रस्तावित है।


ऊर्जा के गैर परंपरागत स्त्रोतों के इस्तेमाल को बढ़ावा दे रही सरकार

प्रदेश के ऊर्जा मंत्री सुजान सिंह पठानिया ने बताया कि भारत सरकार के नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय ने शिमला शहर की इन प्रस्तावित योजनाओं को स्वीकृति भी प्रदान कर दी है। इन योजनाओं पर कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि भारत सरकार के नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय को हमीरपुर शहर को सौर ऊर्जा शहर के रूप में विकसित करने के लिए प्रस्ताव भेजा गया है। इसके तहत हमीरपुर शहर में सोलर पावर प्लांट और सौर ऊर्जा प्रौद्योगिकी की अन्य प्रणालियों को स्थापित करना प्रस्तावित है।

भारत सरकार से मंजूरी मिलने के बाद हमीरपुर शहर को भी सौर ऊर्जा शहर के रूप में विकसित किया जाएगा। पठानिया ने कहा कि ऊर्जा के गैर परंपरागत स्त्रोतों के इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश सरकार ने विशेष प्रयास किए हैं और कर भी रही है। हिमाचल ऊर्जा राज्य के रूप में अपनी पहचान बनाने में सफल हुआ है और गैर पारंपरिक ऊर्जा स्रोतों के दोहन से प्रदेश ऊर्जा क्षेत्र में अग्रणी राज्य बनकर उभरेगा।

Bhoranj By-Election : और तेज होगी जंग

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है