Covid-19 Update

2,17,403
मामले (हिमाचल)
2,12,033
मरीज ठीक हुए
3,639
मौत
33,529,986
मामले (भारत)
230,045,673
मामले (दुनिया)

दो महीने की बेटी का मुंह देखे बिना शहीद हुआ जवान, परिवार का था इकलौता सहारा

दो महीने की बेटी का मुंह देखे बिना शहीद हुआ जवान, परिवार का था इकलौता सहारा

- Advertisement -

पंजाब। जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) में आए बर्फीले तूफ़ान की चपेट में आने से पंजाब (Punjab) के गुरदासपुर स्थित गांव स‍िद्धपुर नवां प‍िंड का रहने वाला जवान शहीद हो गया। शहीद (martyred) की एक साल पहले ही शादी हुई थी और उनके घर दो माह पहले नन्ही परी ने जन्म लिया था। लेकिन जवान को अपनी बच्ची का दीदार करने का भी मौका नहीं मिला। अभी कुछ ही दिनों में  उनकी शादी की सालगिराह (Anniversary) भी आने वाली थी। जवान की शादी पिछले साल 26 जनवरी को हुई थी।

26 साल के रंजीत स‍िंह सलार‍िया 45वीं राष्ट्रीय राइफल्स (45th National Rifles) में स‍िपाही थे। उनकी ड्यूटी जम्मू-कश्मीर में थी। उनके जाने से परिवार में ग़मगीन माहौल है। वह परिवार का इकलौता कमाने का सहारा थे। उनके एक भाई हैं जो मंदबुद्धि हैं। गौर हो, मंगलवार को हिमस्खलन में 5 जवान (Three soldiers lost lives) शहीद हुए थे। 45 राष्ट्रीय रायफल के पांच जवान इस तूफान की चपेट में आए थे।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है