Expand

खर्राटों से हैं परेशान तो जरूर करें ये उपाय

खर्राटों से हैं परेशान तो जरूर करें ये उपाय

हेल्दी शरीर के लिए नींद बहुत जरूरी है। कई बार जब आप गहरी नींद में सो रहे होते हैं तो किसी की खर्राटों की आवाज से नींद टूट जाती है।खर्राटे मारने वालों को यह पता नहीं होता है कि उनकी वजह दूसरों की नींद में खलल डल रहा है। आम तौर पर हम इसे एक सामान्य प्रक्रिया मानते हैं और इस की तरफ ध्यान नहीं देते। लेकिन सच तो यह है कि खर्राटे स्लीपिंग डिस्ऑर्डर का हिस्सा होते हैं, इसलिए इन्हें अनदेखा नहीं करना चाहिए।

कुछ लोगों का सोते वक़्त गले के पीछे का हिस्सा दबकर संकरा हो जाता है और नाक से हवा ठीक से शरीर के अंदर प्रवेश नहीं कर पाती जिसकी वजह से गले और नाक के टिशू वाइब्रेट होने लगते हैं।जिनके गले और नाक के टिशू मोटे और बड़े होते हैं, उन्हें भी अक्सर खर्राटों की समस्या होती है। खर्राटों से हम घरेलू नुस्खे अपना कर निजात पा सकते हैं।

खर्राटों के आने की एक प्रमुख वजह आपके सोने के तरीक़े पर भी निर्भर करती है। यदि आप पीठ के बल सोते हैं, तो इस मुद्रा में आपके गले और जीभ पर ज़्यादा दबाव बनता है और खर्राटे आने की आशंका बढ़ जाती है। बेहतर होगा कि आप करवट लेकर सोएं। सोने का तरीक़ा बदलने के साथ-साथ अपनी जीवनशैली में योग को नियमित रूप से अपनाएं।

विटामिन सी इम्यून सिस्टम को मज़बूत बनाता है और इससे साइनस साफ़ होता है। यदि आप धीरे-धीरे खर्राटे लेते हैं, तो एक महीने रोज़ाना विटामिन सी का एक टैबलेट लें। इससे कुछ ही दिनों में खर्राटे ग़ायब हो जाएंगे।

मेथी में फ़ायटो-न्यूट्रीएंट्स के साथ-साथ ऐंटीऑक्सीडेंट और ऐंटीवायरल गुण पाए जाते हैं। यह आपके पाचन को दुरुस्त करती है और चूंकि पाचन का खर्राटों से सीधा संबंध होता है, इससे खर्राटों को कम करने में मदद मिलती है। रोज़ाना रात को आधा चम्मच मेथी पाउडर पानी के साथ पिएं।

पेपरमिंट ऑयल नाक के पैसेज को खोलने और गले के मोटे टीशूज़ को सिकोड़ने में मदद करता है। इससे खर्राटों को रोकना आसान हो जाता है। ऑयल की दो से तीन बूंदें हाथ में लेकर या रुमाल में रखकर रोज़ाना सूंघें। भाप लेने के लिए भी इस ऑयल का इस्तेमाल किया जा सकता है।

नीलगिरी के तेल में भरपूर मात्रा में ऐंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं। यह नाक के पैसेज की सूजन को कम करता है, जिससे खर्राटे कम हो सकते हैं। नियमित रूप से इस ऑयल की ख़ुशबू लेने की कोशिश करें। भाप लेने के लिए भी इस ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Advertisement
Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Advertisement

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है