UP: खर्राटे लेने की आदत पर बेटे ने छड़ी से पीट-पीटकर की 65-वर्षीय पिता की हत्या

UP: खर्राटे लेने की आदत पर बेटे ने छड़ी से पीट-पीटकर की 65-वर्षीय पिता की हत्या

- Advertisement -

पीलीभीत। उत्तर प्रदेश पीलीभीत (Pilibhit) जिले से एक बड़ा ही दर्दनाक मामला सामने आया है। यहां पर एक बेटे ने अपने पिता की सिर्फ इस वजह से हत्या (Murder) कर दी क्योंकि वह ज़ोर-ज़ोर से खर्राटे लेते थे। बतौर रिपोर्ट्स बेटे नवीन ने पिता रामस्वरूप (65) की छड़ी से पीट-पीटकर कथित हत्या कर दी। बताया गया कि नवीन ने पिता के खर्राटों के कारण नहीं सो पाने की शिकायत की जिसपर दोनों में बहस हुई और नवीन ने पिटाई शुरू कर दी। पुलिस ने हत्या का केस दर्ज कर नवीन की खोज शुरू कर दी है।


यहां जाने क्या है पूरा मामला

मामला थाना सेहरामऊ उत्तरी के गांव सौधा का है, जहां के रहने वाले रामस्वरूप के दो बेटे थे रामस्वरूप का बड़ा बेटा नवीन जो कि अक्सर शराब के नशे मे रहता है। बीती रात रामस्वरूप और मुकेश घर पर अकेले थे, राम स्वरूप सो रहा था और तेजी तेजी खराटे ले रहा था। मुकेश को लगातार पिता के खराटे लेने से दिक्कत हो रही थी, जिससे परेशान होकर मुकेश ने रात 3 बजे घर के अंदर सो रहे अपने पिता रामस्वरूप के ऊपर छड़ी से प्रहार करने लगा। जिसमें दोनों के बीच मारपीट होने लगी, लेकिन छड़ी की पिटाई से पिता रामस्वरूप गंभीर रूप से घायल हो गया। जिस पर मोहल्ले वालों की मदद से पिता रामस्वरूप को पूरनपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया, जहां पर इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

यह भी पढ़ें: Suicide करने के लिए नदी में कूड़ा था युवक; 3 दिन तक भूखा-प्यासा जंगली झाड़ियों के बीच फंसा रहा

घटना सनसनी की तरह चारों तरफ फैल गई, सूचना मिलते ही थाना सेहरामऊ पुलिस मृतक के घर पर गई, लेकिन बेटा अब तक फरार हो चुका था। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपी बेटे की दबिश में जुट गई है। मामले की जानकारी देते हुए पीलीभीत पुलिस अधीक्षक जयप्रकाश यादव ने बताया कि रामस्वरूप अपने घर में सो रहे थे तभी उनके बड़े बेटे मुकेश ने सिर पर लाठी डंडे से प्रहार कर दी, जिससे उनकी मौत हो गई बताया जा रहा है कि मुकेश को अपने पिता के खर्राटे लेने से लगातार दिक्कत हो रही थी उसके चलते मुकेश ने पिता के ऊपर लाठी से हमला कर दिया जिससे उनकी मौत हो गई।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखने के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी Youtube Channel 

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




×
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है