Covid-19 Update

2,00,328
मामले (हिमाचल)
1,94,235
मरीज ठीक हुए
3,426
मौत
29,881,965
मामले (भारत)
178,960,779
मामले (दुनिया)
×

‘3 Idiots’ के वांगचुक ने देशवासियों से China निर्मित सामान का इस्तेमाल न करने का किया आग्रह

‘3 Idiots’ के वांगचुक ने देशवासियों से China निर्मित सामान का इस्तेमाल न करने का किया आग्रह

- Advertisement -

नई दिल्ली। लद्दाख निवासी इंजीनियर सोनम वांगचुक (Sonam Wangchuk) ने देशवासियों से चीनी सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर का इस्तेमाल न करने का आग्रह किया है। बकौल वांगचुक, वह एक सप्ताह में चीन (China) निर्मित फोन व ऐप त्याग देंगे। सोनम बांगचुक वही शख्‍स है जिनके चरित्र पर सुपरहिट फिल्‍म ‘थ्री ईडियट्स’ (3 Idiots) केंद्रित है। उन्होंने कहा, ‘हम चीनी उत्पादों का इस्तेमाल कर उसे करोड़ों का कारोबार देते हैं, वह इन पैसों का इस्तेमाल हमारे खिलाफ सैनिक खड़े करने में कर सकता है।’ उन्होंने कहा कि चीनी सामान का इतने बड़े पैमाने पर बायकॉट किया जाए कि उसकी अर्थव्यवस्था टूट जाए और वहां की जनता गुस्से में तख्ता पलट कर दे। ये अभियान भारत के लिए भी वरदान भी साबित होगा।

यह भी पढ़ें: ‘भारत में Coronavirus दुनिया के लिए संकट बनेगा’ का डर आपने गलत साबित किया: PM मोदी

बुलेट की ताकत तो सेना दिखाएगी ही, देशवासियों को वॉलेट की ताकत दिखानी चाहिए

इसके लिए वांगचुक ने यूट्यूब पर एक वीडियो (Video) पोस्ट किया है। सोनम का यह वीडियो लद्दाख में ही शूट किया गया है जिसके बैकग्राउंड में हिमालय और सिंधु नदी दिखाई दे रहे है। वीडियो में वांगचुक ने कहा, ‘अभी हम मैन्युफैक्चरिंग, हार्डवेयर, दवाओं के कच्चे माल, मेडिकल इंस्ट्रूमेंट, चप्पल-जूते जैसी कई चीजों के लिए चीन पर निर्भर हैं। क्योंकि, इनमें से ज्यादातर सामानों का उत्पादन हमारे देश में कम होता है। होता भी है, तो थोड़ा महंगा होता है। लेकिन, देश की जनता को यह समझना होगा कि चीन से खरीदा माल चीनी सरकार की जेब में जाएगा।’ वांगचुक का मानना है कि चीन को हराने के लिए बुलेट की ताकत तो सेना दिखाएगी ही, देशवासियों को वॉलेट की ताकत दिखानी चाहिए।


यह भी पढ़ें: साध्वी प्रज्ञा के ‘मिसिंग पोस्टर’ पर BJP ने बताया- कैंसर व आंख के इलाज के लिए एम्स में भर्ती हैं

चीन दुनिया का ध्यान असल परेशानी से हटाना चाहता है, इसलिए बढ़ा है तनाव

प्रतिष्ठित मैगसेसे अवार्ड हासिल कर चुके वांगचुक ने कहा, ‘चीन को सबसे बड़ा डर आज अपनी ही 140 करोड़ की आबादी से है जिससे मानवाधिकारों का उल्‍लंघन करते हुए बंधुआ मजदूरों की तरह व्यवहार किया जाता है और जो अपने श्रम से सरकार को समृद्ध बनाती है। कोरोनोवायरस के बाद कारखाने बंद हो गए हैं, निर्यात पर मार पड़ी है, बेरोजगारी बढ़ी है और लोग गुस्से में हैं।’ उन्‍होंने आगे कहा कि अगर हमारे देश के 130 करोड़ लोग ‘मेड इन चाइना’सामानों का बहिष्कार करते हैं और एक आंदोलन शुरू करते हैंतो इसका दुनिया भर में प्रभाव होगा। यह हमारे स्वयं के उद्योग और हमारे श्रमिकों के लिए भी मददगार होगा। अपने वीडियो में वांगचुक ने पीएम मोदी के मेक इन इंडिया और आत्मनिर्भर कैंपेन की बात भी कही है। वांगचुक का कहना है कि भारत-चीन के बीच का तनाव और कुछ नहीं बल्कि दुनिया का ध्यान असल परेशानी से हटाना है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है