Covid-19 Update

2,60,321
मामले (हिमाचल)
2,39. 550
मरीज ठीक हुए
3916*
मौत
38,903,731
मामले (भारत)
347,844,974
मामले (दुनिया)

सोनिया ने लगाया केंद्र पर संवेदनहीनता बरतने का आरोप, कहा-700 शहीद किसानों का सम्मान करें

12 सांसदों के निलंबन पर सोनिया गांधी ने कहा कि यह अभूतपूर्व और अस्वीकार्य है

सोनिया ने लगाया केंद्र पर संवेदनहीनता बरतने का आरोप, कहा-700 शहीद किसानों का सम्मान करें

- Advertisement -

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ( Congress President Sonia Gandhi) ने बुधवार को कांग्रेस संसदीय दल की बैठक में केन्द्र सरकार पर सीधा हमला बोलते हुए, संवेदनहीन होने का आरोप लगाया। संसद भवन के सेंट्रल हॉल में सुबह करीब 9:40 पर बैठक शुरू हुई। कांग्रेस संसदीय दल ( Congress Parliamentary Party)की बैठक को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने संबोधित किया। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों को लेकर संवेदनहीन है। प्रदर्शनकारी किसानों को याद करते हुए सोनिया गांधी ने कहा आइए बलिदान देने वाले 700 प्रदर्शनकारी किसानों का सम्मान करें।

यह भी पढ़ें:अपने घर के आंगन में जरूर लगाएं ये पौधे, वास्तु के अनुसार सुख- समृद्धि बढ़ेगी

गौरतलब है कि कांग्रेस पार्टी केंद्र सरकार से लगातार, निरस्त किए गए कृषि कानूनों के विरोध में मारे गए किसानों के लिए मुआवजे की मांग कर रही है। कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस मुद्दे को संसद में उठाते हुए लोकसभा ( Lok Sabha) के पटल पर मारे गए किसानों की सूची भी रखी है। सोनिया गांधी ने बुधवार को कहा कि हम सीमा मुद्दों पर संसद में पूर्ण चर्चा की मांग करते हैं। विपक्ष सीमा पर असुरक्षा को लेकर चर्चा करना चाहता है, लेकिन सरकार इसको लेकर तैयार नहीं है। उन्होंने केन्द्र सरकार की महंगाई और विनिवेश की नीति को लेकर आड़े हाथों लिया। लगातार बढ़ रही महंगाई करोड़ों परिवार के मासिक बजट को खराब कर रही है।

12 सांसदों के निलंबन पर सोनिया गांधी ने कहा कि यह अभूतपूर्व और अस्वीकार्य है। हम निलंबित सांसदों के साथ एकजुटता से खड़े हैं। सरकार को विपक्षी सांसदों का निलंबन वापस लेना होगा। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मोदी सरकार भारत की संपत्ति बेचने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा देश के सरकारी संपत्तियों को लगातार मोदी सरकार के द्वारा बेचा जा रहा है। कांग्रेस संसदीय दल के सभी सदस्य और पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भी इस बैठक में मौजूद रहे।

इससे पहले राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने मंगलवार को प्रेस से बात करते हुए कहा था कि हम बार-बार सदन के नेता, सभापति से मिलते रहे और अपनी बात रखी कि नियम 256 के तहत जब आप सांसदों को निलंबित कर रहे हैं, तो उस नियम के मुताबिक ही निलंबित कर सकते हैं। लेकिन उन्होंने उन नियमों को छोड़ दिया और गलत तरीके से मानसून सत्र में घटी घटना को शीत सत्र में लाकर 12 सदस्यों को निलंबित किया। अगर निलंबन वापस नहीं लिया तो, विपक्षी दल निलंबित सांसदों के साथ अनशन पर बैठेंगे।

–आईएएनएस

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है