×

Corona संकट के बीच सोनिया ने लिखी PM मोदी को चिट्ठी, लोन-EMI टालने को कहा

Corona संकट के बीच सोनिया ने लिखी PM मोदी को चिट्ठी, लोन-EMI टालने को कहा

- Advertisement -

नई दिल्ली। भारत में कोरोना संक्रमण काफी तेजी से फैल रहा है। पीएम नरेंद्र मोदी की अपील पर देश के लोग 14 अप्रैल तक अपने घरों में कैद होकर लॉक डाउन (lockdown) नियमों का पालन करने के लिए मजबूर हैं। इस बीच देश के मौजूदा हालात को देखते हुए देश के प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस की अंतिरिम अध्यक्षा सोनिया गांधी ने पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के नाम एक खत लिखा है। इस खत में सोनिया गांधी ने कोरोना वायरस को को लेकर चिंता व्यक्त करते हुए आम मजदूरों के लिए पैकेज के ऐलान की बात कही है। सोनिया गांधी ने अपने इस खत में पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा आदेशित लॉक डाउन को सही कदम बताया है।


सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) अपनी चिट्ठी में लिखती हैं, ‘कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए 21 दिनों के लॉकडाउन का फैसला जो किया गया है वो स्वागत योग्य कदम है, ऐसे में हर कोई इस संकट में देश के साथ खड़ा है। लेकिन इसी के साथ ही देश में हेल्थ के साथ-साथ इकॉनोमी के लिहाज से संकट काफी बड़ा है।’ सोनिया ने अपने पत्र में 10 प्रमुख बिन्दु भी उठाए हैं-

1। जो डॉक्टर कोरोना वायरस से निपटने में लगे हुए हैं, उनके लिए तुरंत N95 मास्क और हैज़मैट सूट का इंतजाम किया जाना है। सरकार ने कोरोना से निपटने के लिए 15 हजार करोड़ रुपये स्वास्थ्य सेवाओं के लिए दिए हैं।

2। डॉक्टरों के लिए रिस्क अलाउंस का ऐलान होना चाहिए। 1 मार्च से लेकर अगले 6 महीने तक इसे लागू किया जाना चाहिए।

3। एक ऐसे पोर्टल और फोन नंबर की व्यवस्था की जाए, जहां पर कोरोना को लेकर सारी जानकारी उपलब्ध हो। देश के उन सभी अस्पतालों की जानकारी आम लोगों तक पहुंचाई जानी चाहिए, जहां इसका इलाज हो रहा है।

4। कोरोना के संकट को देखते हुए सरकार को टेंपपरेरी अस्पताल बनाने चाहिए, आईसीयू और वेंटिलेटर की व्यवस्था भी तुरंत की जानी चाहिए।

5। केंद्र सरकार को दिहाड़ी मजदूर, फैक्ट्री लेबर, मनरेगा वर्कर, समेत अन्य गरीब लोगों को सीधे आर्थिक मदद पहुंचानी चाहिए। ये मदद सीधे उनके बैंक खाते में जानी चाहिए।

6। सरकार को किसानों की फसलों की MSP बढ़ानी चाहिए और अगले 6 महीनों तक किसी भी तरह की रिकवरी को रोक देना चाहिए।

7। केंद्र सरकार को तुरंत न्याय जैसी योजना लागू करनी चाहिए, जनधन अकाउंट के जरिए 7500 की मदद लोगों को देनी चाहिए।

8। गरीब परिवार को 10 KG। गेंहू देनी चाहिए, अगले 21 दिनों को देखते हुए इसकी पूर्ति करना जरूरी है।

9। नौकरी पेशा लोगों की सभी ईएमआई 6 महीने के लिए टाल देना चाहिए। इसके अलावा लोन की किश्तों को भी रोक देना चाहिए।

10। उद्योग जगत के लिए टैक्स रिलीफ जैसे ऐलान होने चाहिए। छोटे कारोबारियों पर फोकस करते हुए जल्द राहत का ऐलान होना चाहिए।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है