Covid-19 Update

1,51,597
मामले (हिमाचल)
1,11,621
मरीज ठीक हुए
2156
मौत
24,046,809
मामले (भारत)
161,846,155
मामले (दुनिया)
×

Two-wheeler गाड़ी में ले जाना पड़ा अपने बेटे का शव

Two-wheeler गाड़ी में ले जाना पड़ा अपने बेटे का शव

- Advertisement -

son’s dead body: नई दिल्ली। कर्नाटक में एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें  एक मजदूरी करने वाले को अपने बेटे के शव को दोपहिया गाड़ी में घर ले जाना पड़ा। जबकि अस्पताल प्रबंधन ने उन्हें  एंबुलेंस तक मुहैया नहीं करवार्इ।


दरअसल एक कार ने सफन राय के तीन साल के बेटे को टक्कर मार दी। सफन अपने बेटे रहीम को नजदीकी सरकारी अस्पताल ले गया, जहां डॉक्टरों ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया। बेटे की लाश को घर ले जाने के लिए सफन ने अपने परिचित को फोन करके दोपहिया गाड़ी लेकर बुलाया। जब सफन अस्पातल के बाहर अपने परिचित का इंतजार कर रहे थे तभी किसी ने फोन से उनका वीडियो बना लिया। जिसे कर्नाटक के लोकल चैनल पर दिखाया गया।


son’s dead body: शव को घर ले जाने के लिए एंबुलेंस भी मुहैया नहीं कराई

वीडियो देखने के बाद पुलिस सरकारी अस्पाल पहुंच कर मामला दर्ज कर लिया और बच्चे के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पोस्टमार्ट के बाद बच्चे के शव को सफन को सौंप दिया गया। इतना ही नहीं शव को घर ले जाने के लिए एंबुलेंस भी मुहैया नहीं कराई गई। दरअसल सफन को इस बात का पता नहीं था कि शव को घर ले जाने के लिए एंबुलेंस दी जाती है और न ही अस्पताल प्रबंधन ने इसके बारे में सफन को बताया। सफन असम के रहने वाले हैं, जो अब कर्नाटक में मजदूरी करते हैं और वह कर्नाटक की भाषा भी नहीं जानता।

यह भी पढ़ें – दर्दनाक: मालगाड़ी से कटे 8 लोग, आधा दर्जन Injured

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है