Covid-19 Update

2,04,887
मामले (हिमाचल)
2,00,481
मरीज ठीक हुए
3,495
मौत
31,329,005
मामले (भारत)
193,701,849
मामले (दुनिया)
×

ओम स्वामी बोले-स्कूलों की किताबों से संस्कृति को कर देना चाहिए गायब

ओम स्वामी बोले-स्कूलों की किताबों से संस्कृति को कर देना चाहिए गायब

- Advertisement -

दयाराम कश्यप, सोलन। जब हम संस्कृति को छोड़कर देखे तो बाहर बहुत कुछ बेकार का मिलेगा। ऐसा नहीं है कि दिखाई देने वाली चीजें गलत हैं, क्योंकि बहुत कुछ बेहतर भी मिलेगा। जिसे मनुष्य ग्रहण कर सकता है। यह बात सोलन और जिला सिरमौर की सीमा पर दुग्धम गांव में स्थापित बद्रिका आश्रम के ओम स्वामी ने आज विशेष कार्यक्रम के दौरान कही। उन्होंने कहा कि हमारे स्कूलों की किताबों से संस्कृति को गायब कर देना चाहिए, क्योंकि बच्चों का भविष्य बनाने वाली संस्कृति माता-पिता से ली जा सकती है। साथ ही उन्होंने कहा कि पश्चिमी देश तरक्की कर रहे हैं। उसी तर्ज पर भारत देश भी तरकी की राह में आगे बढ़ रहा है। यदि महिलाओं व सरकारी कार्यो में पारदर्शिता बढ़ जाए तो देश में विकास होगा।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel… 

उन्होंने कहा कि हमारे देश को राजनीति ने जाति-पति के आधार पर पूरी तरह तोड़ दिया है। साथ ही उन्होंने युवा पीढ़ी को नशे से दूर रहने की सलाह दी व नशे के गंदे कारोबार को बंद करने को कहा। आजकल का युवा जहां पर पर्दा डालने की बात होगी उसको जरूर देखेगा। नशे से मेहनत कर रहा व्यक्ति बर्बाद हो जाता है यदि कानून सख्त हो जाए तो इससे सब डर के रहेंगे और यदि पुलिस व शिक्षा में समझौता कर ले तो देश कुछ नहीं कर सकता।


इस दौरान बद्रिका आश्रम दुग्धम में बेटियों को बढ़ावा देने सिलाई कढ़ाई सीखने के लिए प्रशिक्षण सेंटर बारे भी जानकारी दी, जबकि दुग्धम गांव के स्कूल में कम्प्यूटर शिक्षा के लिए कम्प्यूटर व अध्यापक भेजा गया है। साथ ही दुग्धम व शलानु गांव में प्रत्येक बड़ी महिला को एक हजार रुपए व बेटी को 250 रुपए का वजीफा प्रति माह दिया जा रहा है। कार्यक्रम के दौरान सिलाई कढ़ाई सीख चुकी प्रशिक्षुओं को सिलाई मशीन व प्रमाण पत्र दिए गए। बत्रिका आश्रम द्वारा शलानु गांव के स्कूल में दो कमरे रिपेयर करवाने के लिए 75 हज़ार व दो शौचालय बनाने के लिए साठ हजार रुपए की राशि दी गई ताकि स्वच्छ भारत अभियान में गांव को जोड़ा जा सके।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है