×

Holi- 2021: इस वर्ष होली पर 500 वर्षों बाद बन रहा ये खास योग

गुरु और शनि ग्रह अपनी राशियों में विराजमान होंगे

Holi- 2021: इस वर्ष होली पर 500 वर्षों बाद बन रहा ये खास योग

- Advertisement -

हर वर्ष फाल्गुन माह की पूर्णिमा को होली का पर्व मनाया जाता है। होली ( Holi)से एक दिन पहले होलिका दहन किया जाता है और अगले दिन रंग खेला जाता है। इस वर्ष 28 मार्च को होलिका दहन होता और अगले दिन 29 मार्च के रंगों के साथ होली खेली जाएगी। इस बार होली का वर्ष कुछ खास है। आइए सबसे पहले जानते है कि होलिका दहन की तिथि व शुभ मुहूर्त के बारे में


यह भी पढ़ें: शुभ मुहूर्त में करें होलिका दहन, जानिए क्या है सही समय और पूजा विधि

28 मार्च रविवार को होलिका दहन का मुहूर्तः

शाम 06 बजकर 36 मिनट से 8 बजकर 56 मिनट तक, कुल अवधि 02 घंटे 19 मिनट

पूर्णिमा तिथि प्रारम्भ: 28 मार्च 2021 को प्रातः 03 बजकर 27 से

पूर्णिमा तिथि समाप्त: 29 मार्च 2021 को रात 12 बजकर 17 मिनट पर

ज्योतिष के अनुसार होली के दिन यानी 29 मार्च को चंद्र देव कन्या राशि में उपस्थित होंगे। वहीं गुरु और शनि ग्रह अपनी राशियों में विराजमान होंगे। इस तरह के ग्रहों का योग वर्ष 1952 के मार्च माह की तारीख को बना था। उसके बाद लगभग 499 वर्षों के बाद इस तरह का दुर्लभ योग बन रहा है। इस बार होली पर सवार्थसिद्धि योग के साथ अमृतसिद्धि योग भी होगा। वहीं इस दिन शुक्र और सूर्य मीन राशि में विराजमान होंगे। मंगल और राहू वृषभ राशि में बुध,कुंभ राशि और मोक्ष के कारण केतु वृश्चिक राशि में विराजमान होंगे। ग्रहों की इस तरह की स्थि के चलते ध्रुव योग का निर्माण होगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है