Covid-19 Update

41,229
मामले (हिमाचल)
32,309
मरीज ठीक हुए
656
मौत
9,499,710
मामले (भारत)
64,194,692
मामले (दुनिया)

स्पॉट फिक्सिंग पर आफरीदी का खुलासा, पहले से थी जानकारी 

स्पॉट फिक्सिंग पर आफरीदी का खुलासा, पहले से थी जानकारी 

- Advertisement -

नई दिल्ली। पाकिस्तानी पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi)ने अपनी आत्मकथा (Autobiography)’गेम चेंजर’ में एक और सनसनीखेज खुलासा किया है। उन्होंने स्पॉट फिक्सिंग (Spot Fixing)के बारे में बात करते हुए कहा है कि उन्हें 2010 के स्पॉट फिक्सिंग कांड के बारे में पहले से पता था। उन्हें उनके साथी खिलाड़ियों और सटोरिए के बीच संदेशों (Massages)के बारे में पहले से ही जानकारी थी लेकिन उनके कोच वकार यूनुस ने सबूत देने के बावजूद कार्रवाई से मना किया था।

 

 

बता दें कि स्पॉट फिक्सिंग मामला अगस्त 2010 में पाकिस्तान (Pakistan) टीम के इंग्लैंड (England)दौरे पर सामने आया था। उन्होंने अपनी आत्मकथा में कहा, मामला उजागर होने से पहले उन्होंने टीम प्रबंधन को सबूत दिए थे लेकिन उनके कार्रवाई नहीं की थी। आफरीदी ने लिखा ,‘प्रबंधन के कानों में जूं भी नहीं रेंगी। हमेशा की तरह ढुलमुल रवैया। शायद प्रबंधन परिणामों से डर गया था। ये खिलाड़ी उनके पसंदीदा और भावी कप्तान थे। मैं कह नहीं सकता।’ आफरीदी ने कहा कि वह जून 2010 में एशिया कप के लिए श्रीलंका (Sri Lanka) में थे जब उन्हें मजीद और बट के एजेंट और मैनेजर के एसएमएस (SMS) मिले।

 

 

उन्होंने कहा कि मजीद उस समय अपने परिवार के साथ श्रीलंका में था और एक बीच पर उसके छोटे बेटे ने उसका मोबाइल (Mobile)पानी में गिरा दिया था। आफरीदी ने कहा ,‘जब मजीद इंग्लैंड (England) लौटा तो वह फोन ठीक कराने ले गया। फोन दुकान पर कुछ दिन रहा। दुकानदार मेरे दोस्त का दोस्त था। फोन ठीक करते समय दुकानदार ने मजीद के मैसेज देखे। उसने मेरे दोस्त को बताया और उससे मुझे पता चला।’आफरीदी ने कहा कि उस समय उन्होंने तत्कालीन कोच वकार को यह बात बताई। उन्होंने मामला आगे बढ़ाया ही नहीं। आफरीदी ने कहा, ‘हमें लगा कि यह उतना बुरा नहीं है जितना बाद में सामने आया। हमें लगा कि यह उनकी आपस की बातचीत है लेकिन वे मैसेज किसी बड़े कांड का हिस्सा थे।’

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है