Covid-19 Update

2,01,049
मामले (हिमाचल)
1,95,289
मरीज ठीक हुए
3,445
मौत
30,067,305
मामले (भारत)
180,083,204
मामले (दुनिया)
×

अलर्ट! तेजी से दरक रहे हैं हिमाचल में पहाड़, भविष्य में बड़ी आफत की आशंका 

अलर्ट! तेजी से दरक रहे हैं हिमाचल में पहाड़, भविष्य में बड़ी आफत की आशंका 

- Advertisement -

शिमला। पेड़ों की अंधाधुंध कटाई, सड़कों, सुरंगों और भवनों के अवैज्ञानिक तरीके से निर्माण के कारण हिमाचल प्रदेश के पहाड़ तेजी से दरकने लगे हैं। ऊंचे और मझोले ऊंचाई के पहाड़ों की संरचना में तेज़ी से बदलाव आ रहा है। आईआईटी मंडी के वैज्ञानिकों ने पहाड़ों से लगातार हो रही छेड़छाड़ से बड़ी आपदा की आशंका जताई है। 
मंडी के वैज्ञानिकों का कहना है कि लगातार लैंडस्लाइड, बादल फटने, भारी बारिश जैसी प्राकृतिक आपदाओं से पहाड़ों की सबसे मजबूत सतह यानी मेन सेंट्रल क्रस्ट (एमसीटी) और मेन बाउंड्री क्रस्ट (एमबीटी) कमजोर पड़ने लगी है। आईआईटी मंडी में राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने ‘भूस्खलन की रोकथाम एवं पुनर्वास’ पर एक प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया था। वैज्ञानिकों ने चेताया है कि पहाड़ों से छेड़छाड़ नहीं रुकी तो हिमाचल में भूस्खलन को रोकना बेहद मुश्किल होगा। वैज्ञानिकों ने 2017 में कोटरोपी के भूस्खलन को याद किया, जिसमें 50 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी।
वैज्ञानिकों ने बताया कि मेन बाउंड्री क्रस्ट में काफी कम बदलाव होते हैं, लेकिन भीतरी सतह एमसीटी में तेज़ी से बदलाव हो रहे हैं। ये भीषण प्राकृतिक आपदा का संकेत है। वैज्ञानिकों के अध्ययन की रिपोर्ट जल्द प्रदेश सरकार को प्रस्तुत की जाएगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है