Covid-19 Update

2,00,603
मामले (हिमाचल)
1,94,739
मरीज ठीक हुए
3,432
मौत
29,944,783
मामले (भारत)
179,349,385
मामले (दुनिया)
×

तेलंगाना में Hamirpur के युवक की सर्जरी का खर्च वहन करेगी हिमाचल सरकार

तेलंगाना में Hamirpur के युवक की सर्जरी का खर्च वहन करेगी हिमाचल सरकार

- Advertisement -

शिमला। तेलंगाना में काम कर रहे हिमाचल के जिला हमीरपुर (Hamirpur) के युवक की सर्जरी का खर्च जयराम सरकार (Jai Ram Government) वहन करेगी। हिमाचल सरकार ने मुख्यमंत्री राहत कोष से युवक की सर्जरी का अस्पताल खर्च वहन करने का निर्णय लिया है। हमीरपुर जिले के टौणी देवी क्षेत्र के गांव ललियार का ललित कुमार लॉकडाउन के चलते तेलंगाना में फंस गया था। अपेंडेक्टोमी का दर्द होने के बाद उसे ओमनी अस्पताल में भर्ती किया गया। जहां पर डॉक्टरों ने उसका ऑपरेशन किया। करीब 60 हजार का बिल बनाया। पर युवक की आर्थिक सहायता को देखते हुए प्रदेश सरकार के आग्रह पर बिल को घटाकर 35 हजार किया गया।

यह भी पढ़ें: हैदराबाद में इंस्पेक्टर ने हिमाचली शख्स की सर्जरी के लिए दिए 20 हजार, CM जयराम ने इस तरह किया धन्यवाद

तेलंगाना पुलिस के इंस्पेक्टर बी लक्ष्मी रेड्डी ने अपनी जेब से 20 हजार रुपए चुकाए। सीएम जयराम ठाकुर ने तेलंगाना सरकार और सर्जरी के लिए 20,000 रुपए चुकाने वाले हैदराबाद के पुलिसकर्मी का धन्यवाद किया है। सीएम जयराम ने उक्त इंस्पेक्टर को फोन करके भी आभार जताया। हैदराबाद के रहने वाले हिमाचल के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय (Governor Bandaru Dattatreya) ने भी समय पर मदद करने के लिए इंस्पेक्टर बीएल लक्ष्मीनारायण रेड्डी की तारीफ की।


यह भी पढ़ें: कोरोना राहतः भोटा में भर्ती Una के दो मरीजों की पहली रिपोर्ट हुई नेगेटिव

इंस्पेक्टर ऑफ पुलिस लक्ष्मीनारायण रेड्डी कुकटपल्ली डिविजन में तैनात हैं। बताया गया कि 16, अप्रैल को डीजीपी कोविड 19 कंट्रोल रूम में एक कॉल रिसीव हुई कि कुकटपल्ली डिवीजन में किसी दूसरे राज्य का कोई व्यक्ति फंसा हुआ है और उसे मेडिकल संबंधी मदद चाहिए। कंट्रोल रूम ने यह सूचना कुकटपल्ली पुलिस के पास भेज दी। वहां यह मामला इंस्पेक्टर ऑफ पुलिस लक्ष्मीनारायण रेड्डी के पास आया। उन्हें पता चला कि ललित कुमार अपेंडिक्स के दर्द से परेशान हैं और उन्हें तत्काल मेडिकल संबंधी मदद चाहिए। ललित कुमार के पास अपना इलाज कराने के लिए पर्याप्त पैसे भी नहीं थे। ऐसे में इस पुलिस अधिकारी ने ना केवल उन्हें एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया, बल्कि अपनी जेब से 20 हजार के बिल का भुगतान भी किया।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है