Covid-19 Update

58,457
मामले (हिमाचल)
57,233
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,045,587
मामले (भारत)
112,852,706
मामले (दुनिया)

आंचल ठाकुर को Himachal Gaurav और कुल्लू प्रशासन को Civil Service Award

- Advertisement -

शिमला। ऐतिहासिक रिज पर आयोजित State Level Himachal Day समारोह में CM Jai Ram ने जिला प्रशासन कुल्लू को Civil Service Award प्रदान किया। यह पुरस्कार डीसी कुल्लू यूनुस ने प्राप्त किया। नीति आयोग के सदस्य प्रो. विनोद के पाल, निदेशक एम्ज, नई दिल्ली डॉ. रणदीप गुलेरिया, पुरातात्विक उत्खनन शोधकर्ता डॉ.ओमचंद हांडा और चिन्मय ऑरगेनाईजेशन फॉर रूरल डेवेलपमेंट धर्मशाला को प्रेरणा स्रोत सम्मान प्रदान किया गया। कुमारी आंचल ठाकुर को Himachal Gaurav Award प्रदान किया गया।
वहीं, State Level Himachal Day समारोह में भव्य परेड आयोजित की गई, जिसका नेतृत्व डीएसपी अमित ठाकुर ने किया। परेड में हिमाचल पुलिस, पुलिस बैंड, होमगार्ड, एनसीसी, एनएसएस और स्काउट एंड गाइड की 14 टुकड़ियों ने हिस्सा लिया। इस अवसर पर आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला छोटा शिमला ने लोक नृत्य, सांस्कृतिक दल किन्नौर ने किन्नौरी लोक नृत्य, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला लक्कड़ बाजार ने चंबा का लोक नृत्य, आईटीबीपी द्वारा वेपन डिस्पले, लोक नृत्य दल मंडी द्वारा लोक नृत्य लुड्डी, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला पोर्टमोर द्वारा पश्चिम बंगाल का लोकनृत्य, लोक नृत्य दल बिलासपुर द्वारा रुकमणि लोक नृत्य, हिमाचल पुलिस विभाग द्वारा साइबर क्राइम जागरुकता पर लघु नाटक और लोक सांस्कृतिक दल सिरमौर द्वारा सिंहटू लोक नृत्य प्रस्तुत किया गया।

किसको और क्यों मिले यह अवॉर्ड

Civil Service Award जिला प्रशासन कुल्लू को प्रदान किया गया। जिला प्रशासन कुल्लू द्वारा वर्ष 2017 में पर्यटकों की सुविधा के लिए ‘गो कुल्लू’ परियोजना के तहत वेबसाइट तैयार की गई। इस वेबसाइट में कुल्लू जिला के इतिहास, प्रशासन, भौगोलिक स्थिति, पर्यटन स्थलों, स्थानीय व्यंजन, साहसिक पर्यटन, मंदिरों, मेलों एवं त्यौहारों से संबंधित हर तरह की जानकारियां उपलब्ध करवाई गई हैं।  इस परियोजना की विशेषता यह है कि यदि कोई ट्रैकर, दूर-दराज क्षेत्रों में खो जाए या किसी भी विपरीत परिस्थिति में फंस जाए, तो इस वेबसाइट के माध्यम से उसे खोजा जा सकता है।

प्रेरणा स्त्रोत सम्मान 

प्रो. विनोद के. पॉल, हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिला से संबंध रखते हैं। शोधार्थी एवं चिकित्सा जगत की जानी मानी हस्ती प्रो. पॉल 1985 से अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, नई दिल्ली में शिशु चिकित्सा विभाग में कार्यरत रहे हैं और वर्ष 2008 से इस विभाग के विभागाध्यक्ष रहे। वर्तमान में प्रो. विनोद के पॉल को भारत के नीति आयोग का सदस्य नियुक्त किया गया है। प्रो. विनोद स्वास्थ्य एवं शिशु स्वास्थ्य के कार्यक्रम के सह-अध्यक्ष व संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा जच्चा-बच्चा स्वास्थ्य पर चलाए जा रहे सहस्त्राब्दी प्रोजेक्ट के विशेष कार्यबल के सदस्य हैं। प्रो.विनोद देशव्यापी, मिड-डे-मील के लिए नई पोषण दिशा-निर्देश समिति के अध्यक्ष भी हैं।  डॉ. रणदीप गुलेरिया, हिमाचल प्रदेश के जिला कांगड़ा से संबंध रखते हैं। डॉ. रणदीप गुलेरिया ने चिकित्सा जगत में नए आयाम स्थापित किए हैं। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, नई दिल्ली में भारत के प्रथम पलमोनरी मैडीसन एवं निद्रा विकार विभाग को  स्थापित करने का श्रेय डॉ. रणदीप गुलेरिया को जाता है।
डॉ. रणदीप गुलेरिया, विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा रोग प्रतिरोधक एवं इन्फ्लुएंजा की रोकथाम पर चलाए जा रहे कार्यक्रम के विशेषज्ञ वैज्ञानिक सलाहकार संगठन के सदस्य हैं। डॉ. रणदीप गुलेरिया भारतीय चिकित्सा संघ, भारतीय श्वसन एवं राष्ट्रीय श्वसन चिकित्सा कॉलेज के जीवन पर्यन्त सदस्य भी हैं। डॉ. ओम चंद हांडा, हिमाचल प्रदेश के पुरातात्विक उत्खनन के क्षेत्र में एक जाना माना नाम है। इनका जन्म 2 अक्तूबर, 1936 को हिमाचल प्रदेश के ज़िला मंडी में हुआ। इन्होंने अपना पूरा जीवन इतिहास, कला और संस्कृति से संबद्ध छानबीन, खोज, शोध एवं लेखन में व्यतीत किया। तीन दर्जन शोधपूर्ण पुस्तकों के रचयिता डॉ. ओम चंद हांडा वर्ष 1990 से 1992 तथा वर्ष 2002 से 2004 तक इंडियन काउंसिल ऑफ हिस्टोरिकल रिसर्च के फैलो तथा अन्य अनेक पदों पर शोभ्यमान रहे हैं। चिन्मय ग्रामीण विकास संगठन यानि, कार्ड गत 33 वर्षों से ग्रामीण विकास के क्षेत्र में कार्य कर रही है। इसका कार्यक्षेत्र देश के लगभग 1000 गांवों में फैला हुआ है, जिसमें हिमाचल प्रदेश में जिला कांगड़ा व चंबा के 700 गांव, उड़ीसा, तमिलनाडु, पंजाब, उत्तराखंड और आंध्रप्रदेश के 300 गांव शामिल हैं।

Himachal Gaurav Award

कुमारी आंचल ठाकुर का जन्म 28 अगस्त, 1996 को कुल्लू जिला के बुरूआ गांव में हुआ। आंचल ठाकुर ने वर्ष 2017 में तुर्की में आयोजित अंतरराष्ट्रीय स्कीइंग प्रतिस्पर्धा में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए कांस्य पदक हासिल किया। कुमारी आंचल ठाकुर स्कीइंग प्रतिस्पर्धा में किसी भी प्रकार का अंतरराष्ट्रीय पदक जीतने वाली देश की प्रथम खिलाड़ी हैं। इससे पूर्व भी आंचल ठाकुर कई देशों में स्कीइंग प्रतिस्पर्धाओं में भारत का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं। आंचल ठाकुर, वर्तमान में कोरिया के प्यांग चांग में आयोजित होने वाली शीतकालीन ओलंपिक प्रतिस्पर्धा 2018 की तैयारी के लिए यूरोप में प्रशिक्षण प्राप्त कर रही हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है