Covid-19 Update

2,06,832
मामले (हिमाचल)
2,01,773
मरीज ठीक हुए
3,511
मौत
31,810,782
मामले (भारत)
201,005,476
मामले (दुनिया)
×

सत्ती के बोल, धूमल की फ्रिक छोड़ वीरभद्र की चिंता करे कांग्रेस

सत्ती के बोल, धूमल की  फ्रिक छोड़ वीरभद्र की चिंता करे कांग्रेस

- Advertisement -

Satpal Singh Satti : हमीरपुर। भोरंज उपचुनाव में वीरभद्र सिंह और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सुखविंदर सुक्खू  बार-बार बयान दे रहे हैं कि धूमल सीएम नहीं बनेंगे। इससे यह बात साबित हो गई है कि कांग्रेस पार्टी प्रदेश में नहीं आ रही है। दोनों नेताओं ने अपनी हार मान ली हुई है। सुखविंदर सिंह और वीरभद्र सिंह को चाहिए कि वह दोनों यह चिंता करें कि वीरभद्र सिंह की जमानत अंदर होने के बाद होगी या पहले।  बीजेपी का सीएम कौन होगा,  इसकी चिंता न करते हुए कांग्रेस यह चिंता करने की उनके सीएम की क्या हालत होने वाली है। यह बात बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने यहां पत्रकारों से बातचीच करते हुए कही।

Satpal Singh Satti : सीएम को पद से हटाए कांग्रेस हाईकमान

सत्ती ने कहा कि बीजेपी का सीएम हाईकमान तय कर लेगा। परिवारवाद के मुद्दे पर सत्ती ने कहा कि कांग्रेस को परिवारवाद पर बात करने का कोई हक नहीं कांग्रेस तो आकंठ परिवारवाद में डूबी है। उन्होंने कांग्रेस हाईकमान से हिमाचल के सीएम को तुरंत पद से हटाए जाने की मांग की।  इन सब केसों के ऊपर बीजेपी पिछले चार वर्षों से विधानसभा के अंदर और बाहर बोलती रही है कि बिल्कुल तथ्यों पर आधारित यह केस बने हैं। बीजेपी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली ने भी इन केसों के लिए कहा था कि इससे ज्यादा सीधा-सीधा केस कोई नहीं हो सकता। अभी तक वीरभद्र सिंह इस केस को लटकाते रहे, लेकिन अब जब यह कार्रवाई शुरू हुई है तो बीजेपी इस कार्रवाई का स्वागत करती है और प्रदेश हित तथा जन हित में यह मांग करती है कि वीरभद्र सिंह को तुरंत अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए। कांग्रेस की राष्ट्रीय हाईकमान को चाहिए कि ऐसे भ्रष्टाचारी सीएम को तुरंत पद से हटाए।


सद्भावना से कार्य करती है बीजेपी

बीजेपी पार्टी और सरकारें सद्भावना से कार्य करती हैं और सबको साथ लेकर चलती हैं। भोरंज विस के होड़ गांव में पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल ने अल्पसंख्यक समुदाय की नुक्कड़सभा को सम्बोधित करते हुए यह बात कही। धूमल ने अल्पसंख्यक समुदाय से बीजेपी के पक्ष में मतदान करने का आह्वान करते हुए कहा कि कई बार गलतफहमियां हो जातीं हैं और हम धारणा बना लेते हैं कि यह पार्टी या इसके लोग गलत हैं, जबकि ऐसा नहीं है। बीजेपी की सरकार में मुस्लिम महिलाओं के लिए ईद पर एचआरटीसी की बसों में मुफ्त यात्रा करने का ऐलान किया था। अल्पसंख्यकों के लिए टेक्नीकल एजुकेशन के लिए दो करोड़ रुपए के फंड का प्रावधान किया था, उस पैसे का इंट्रस्ट क्रिएट कर जो लाखों रुपये मिले, उससे वजीफे इत्यादि छात्रों को शुरू किए।

यह भी पढ़े : ये क्या बोल गए शांताः Himachal की Politics नालायक

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है