Covid-19 Update

1,58,472
मामले (हिमाचल)
1,20,661
मरीज ठीक हुए
2282
मौत
24,684,077
मामले (भारत)
163,215,601
मामले (दुनिया)
×

जिंदा रहना है तो अगले 100 साल में छोड़ दें धरती!

जिंदा रहना है तो अगले 100 साल में छोड़ दें धरती!

- Advertisement -

Stephen hawking: नई दिल्ली। दुनिया के जाने-माने भौतिकशास्त्री स्टीफन हॉकिंग ने इंसानों को आगाह किया है कि अगर वे जिंदा रहना चाहते हैं तो धरती छोड़ दें। उन्होंने कहा है कि इंसानों को खुद को बचाने के लिए 100 सालों के अंदर पृथ्वी छोड़कर किसी दूसरे ग्रह पर चले जाना होगा। उनका कहना है कि आने वाले दिनों में जलवायु परिवर्तन, बढ़ती आबादी और उल्का पिंड से टकराव से खुद को बचाने के लिए मनुष्य को दूसरी धरती खोजनी होगी।


Stephen hawking: पृथ्वी पर मानव जाति का बच पाना संभव नहीं

अगर ऐसा नहीं किया तो अगले 100 सालों में पृथ्वी पर मानव जाति का बच पाना संभव नहीं। दरअसल बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री ‘एक्पेडिशन न्यू अर्थ’ में स्टीफन हॉकिंग और उनके स्टूडेंट क्रिस्टोफ गलफर्ड धरती से बाहर वाली दुनिया में मानव जाति के लिए जीवन की तलाश करते नजर आएंगे। इसी डॉक्यूमेंट्री में हॉकिंस ने दावा किया है कि मनुष्य को अगर जिंदा रहना है तो उसे किसी दूसरी जगह पर जीवन की तलाश करनी होगी।


 तकनीकी विकास के साथ  मानव की आक्रामकता खतरनाक

बताया जा रहा है कि इस डॉक्यूमेंट्री का मकसद है कि ब्रिटेन सबसे बेहतरीन अविष्कार की खोज करना चाहता है। इसमें लोगों से यह सवाल भी पूछा जाएगा कि किस अविष्कार ने उनके जीवन को सबसे ज्यादा प्रभावित किया है। वहीं पिछले महीने भी हॉकिंग ने बताया था कि तकनीकी विकास के साथ मिलकर मानव की आक्रामकता बहुत खतरनाक हो गई है। आने वाले दिनों में यही प्रवृति परमाणु या जैविक युद्ध के जरिए मानव जाति का विनाश हो सकता है। उनका कहना था कि अब एक वैश्विक सरकार ही हमें इससे बचा सकती है। वरना मानव के लिए बतौर प्रजाति जिंदा रहना मुश्किल होगा।

OMG ! 25 साल से खा रहा पत्ती-लकड़ी, फिर भी जिंदा

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है