×

स्कूल भवन तोड़ा, नया बनाया नहीं अब बाहर पढ़ाई कर रहे बच्चे

स्कूल भवन तोड़ा, नया बनाया नहीं अब बाहर पढ़ाई कर रहे बच्चे

- Advertisement -

सोलन। सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को सुरक्षित माहौल देना सरकार की जिम्मेदारी है। प्रदेश में अभी भी कई स्कूल ( Schools)ऐसे हैं जहां पर भवन जर्जर हालत में हैं और बच्चे इन भवनों में शिक्षा ग्रहण करते हैं। दूरदराज के इलाकों से अलग हटकर बात करते हैं सोलन जिला मुख्यालय से मात्र आठ किमी दूर प्राइमरी स्कूल सलोगड़ा की। खास बात यह है कि यह स्कूल एनएच के साथ है। इन दिनों परवाणू- शिमला एनएच (Parwanoo- shimla NH) पर फोरलेन के काम चला हुआ है। इसी की जद में यह स्कूल भी आया। भवन को तोड़ दिया और अब बच्चों के पास बचा पुराना जर्जर भवन। बाहर तेज धूप में बच्चे शिक्षा ग्रहण करें तो कैसे, दूसरी तरफ अगर पुराने भवन के अंदर बैठते हैं तो भवन के गिरने का डर। डर के साए में बच्चे पर टीचर दोनों है। इतना ही नहीं स्कूल एनएच से सटा होने के कारण यहां पर फोरलेन( Fourlane) का काम चला हुआ है। इससे किसी भी हादसे का अंदेशा बना हुआ है।


यह भी पढ़ें :-सरकारी स्कूल का कारनामा : गलत स्पेलिंग पर लगा दिया सही निशान

 

वहीं एसएमसी प्रधान कमल का कहना है कि पिछले 3 महीनों से सलोगड़ा प्राइमरी स्कूल ( Salogra) primary school) के बच्चे धूप में बैठकर पढ़ाई कर रहे है। उन्होंने कहा कि अगर फोरलेन के काम में स्कूल बिल्डिंग आ रही थी तो प्रशासन को चाहिए था कि वो बच्चों को बैठने की पहले उचित सुविधा करते फिर भवन तोड़ा जाता। लेकिन पहले सरकार और प्रशासन इसकी तरफ सुध नहीं ले रहा है। उन्होंने कहा कि उन्होंने डीसी सोलन को इस बारे में ज्ञापन सौंपा है और गुहार लगाई है कि इस बारे में कोई उचित कदम उठाया जा सके, ताकि बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ ना हो।

वहीं अभिभावकों का कहना है कि स्कूल की हालत बहुत खराब है और बच्चों का ऐसे स्कूल में बैठना खतरे से खाली नहीं है। प्रशासन ना तो इसकी तरफ ध्यान दे रहा है न ही सरकार,और जो कमरे मुहैया करवाये गए है उनकी हालत भी नाजुक है। उन्होंने कहा कि बच्चों को बाहर धूप में पढ़ाया जा रहा है जिससे आये दिन बच्चे बीमार हो रहे हैं। बरसात में अगर ऐसा ही रहा तो बच्चों को स्कूल भेजना बेद कर देंगे। स्कूल सड़क के साथ है ऊपर से कभी भी पत्थर गिरने से कोई बड़ी अनहोनी हो सकती है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है