×

Himachal का एक गांव ऐसा जहां की महिलाएं बन चुकी हैं आत्मनिर्भर

एनआरएलएम से जुड़ने के बाद उनकी सामाजिक व आर्थिक स्थिति में हुआ है परिवर्तन

Himachal का एक गांव ऐसा जहां की महिलाएं बन चुकी हैं आत्मनिर्भर

- Advertisement -

ये कहानी है हिमाचल प्रदेश के जिला सिरमौर (District Sirmour of Himachal Pradesh) की, राजगढ़ की करगाणू पंचायत (Karganu Panchayat of Rajgarh) के गांव पलाशला की महिलाएं पारम्परिक खेती-बाड़ी, पशुपालन और घर के कामों में व्यस्त रहती थी। लेकिन अब गांव की महिलाएं स्वयं सहायता समूह से जुड़ कर आर्थिक रूप से आत्म.निर्भर बन रही हैं। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (National Rural Livelihood Mission) के अंतर्गत वर्ष 2014 में जिला सिरमौर के विकास खण्ड राजगढ़ द्वारा शिवजी स्वयं सहायता समूह पलाशला का गठन किया गया था। समूह की महिलाओं का कहना है कि समूह के गठन से पूर्व उनकी आर्थिक स्थिति इतनी खराब थी कि वे समय पर बीज नहीं खरीद पाते थे और उन्हें सब्जियां व फसल इत्यादि लगाने में देरी हो जाती थी जिसके कारण समय पर फसल तैयार ना होने से उन्हें उचित दाम भी नहीं मिल पाते थे। स्वयं सहायता समूह से जुड़ने के बाद शिवजी स्वयं सहायता समूह पलाशला की ग्रामीण महिलाएं काफी खुश हैं। अब इस समूह को प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी भी समय-समय पर मिलती रहती है और समूह के सदस्य हर महीने अपनी क्षमता के अनुसार बचत भी जमा करती हैं और उसी बचत राशि को वह अपनी आवश्यकता की पूर्ति के लिए खर्च करती हैं।


शिवजी स्वयं सहायता समूह पलाशला की सचिव सीमा देवी ने बताया कि समूह द्वारा समूह की तीन महिलाओं को मकान निर्माण के लिए 2 लाख 50 हजार रूपए की धन राशि दी गई है जिनमें कौशलय देवी को एक लाख 50 हजार रूपए, धामला देवी को 70 हजार रूपए तथा शीला देवी को 30 हजार रूपए की राशि कम ब्याज दर पर मकान बनाने के लिए दी गई है। अब इन महिलाओं (Women) ने इस धन राशि से अपना-अपना मकान भी तैयार कर लिया है। उनका कहना है कि समूह के अन्य सदस्यों को भी उनकी जरूरत के अनुसार धन राशि उपलब्ध करवाई जाती है। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (एनआरएलएम) से जुड़ने के बाद उनकी सामाजिक व आर्थिक स्थिति (Economic Condition) में परिवर्तन तो हुआ ही है तथा आर्थिक स्थिति में सुधार होने से उनके गृहस्थ जीवन की गाडी भी पटरी पर सुगमता पूर्वक चल रही है।

खंड विकास अधिकारी राजगढ़ रमेश शर्मा ने बताया कि राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अन्तर्गत जिला सिरमौर के विकास खण्ड राजगढ़ (Block Rajgarh) की पंचायत के पलाशला (Palashla) गांव के शिवजी स्वयं सहायता समूह पलाशला को अब तक 6 लाख 30 हजार रूपए के ऋण सस्ती ब्याज दरों पर बैंक के माध्यम से विभिन्न कृषि उत्पाद व अन्य गतिविधियों के क्रियान्वयन के लिए उपलब्ध करवाई गई है। उन्होंने बताया कि इस मिशन के तहत प्राप्त ऋण राशि की सहायता से शिवजी स्वयं सहायता समूह पलाशला की ग्रामीण महिलाओं का आर्थिक जीवन भी सुदृढ़ हो रहा है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है