×

टूटा रिकॉर्डः हरियाणा में चीनी की मिठास बढ़ी

टूटा रिकॉर्डः हरियाणा में चीनी की मिठास बढ़ी

- Advertisement -

sugar production : चंडीगढ़। वर्तमान गन्ना पिराई मौसम के दौरान प्रदेश की दस सहकारी चीनी मिलों ने अब तक सर्वाधिक 250.13 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 23.89 लाख क्विंटल से अधिक चीनी का उत्पादन किया है, जबकि गत वर्ष इसी अवधि के दौरान चीनी मिलों ने 226.32 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 21.86 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन किया था। हरियाणा राज्य सहकारी चीनी मिल प्रसंघ के प्रवक्ता ने आज यह जानकारी देते हुए बतोया कि शाहबाद सहकारी चीनी मिल ने सर्वाधिक 45.58 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 4.65 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है। इसके उपरान्त रोहतक सहकारी चीनी मिल ने 31.62 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 2.83 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है। सहकारी चीनी मिल महम ने 28.12 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 2.57 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है।


  • sugar production : पिछले साल के मुकाबले ज्यादा हुआ चीनी का उत्पादन
  • 23.89 लाख क्विंटल से अधिक चीनी का हुआ उत्पादन
  • पिछले साल 21.86 लाख क्विंटल चीनी का हुआ था उत्पादन

सहकारी चीनी कैथल मिल ने 26.13 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 2.54 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है। सहकारी चीनी मिल गोहाना ने 25.1 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 2.26 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है। सहकारी चीनी मिल सोनीपत ने 19.55 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 1.87 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है। इसी प्रकार, पानीपत सहकारी चीनी मिल ने 18.68 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 1.83 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है। सहकारी चीनी मिल जींद ने 19.14 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 1.84 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है। करनाल सहकारी चीनी मिल ने 18.70 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 1.89 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है। सहकारी चीनी मिल पलवल ने 17.60 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 1.56 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है। इस अवधि के दौरान हैफेड चीनी मिल असन्ध ने भी 23.50 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 2.29 क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश की सहकारी चीनी मिलों में अब तक शुगर रिकवरी औसतन 9.92 प्रतिशत रही है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है