- Advertisement -

सुक्खू बोले, जयराम राज में बागवानों को हुआ दो हजार करोड़ रुपए का नुकसान

1800 से 2500 रुपये में बिकने वाली सेब की पेटी 800 से 1200 रुपये में बिकी

0

- Advertisement -

शिमला। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू ने पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम जयराम ठाकुर को जुमला किंग बताया है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार और सीएम जयराम ठाकुर ने प्रदेश के सेब उत्पादकों के साथ बहुत बड़ा धोखा किया है। 2014 में सेब पर आयात मूल्य 50 प्रतिशत बढ़ाने का वादा पीएम ने अब तक पूरा नहीं किया। इससे हिमाचल के सेब उत्पादकों को नुकसान उठाना पड़ रहा है। बाहरी सेब के आयात होकर यहां आने से हिमाचल के बागवानों को सेब के उचित दाम नहीं मिल पा रहे। जो सेब की पेटी 1800 से 2500 रुपये में बिकती थी, वह इस बार 800 से 1200 रुपये में बिकी। इससे बागवानों को इस बार दो हजार करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है।

बता दें कि प्रदेश कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज करने के लिए जमीनी स्तर पर बीजेपी की घेराबंदी शुरू कर दी है। लक्ष्य 2019 हासिल करने के लिए कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू खुद कमान संभाले हुए हैं। सुक्खू इन दिनों हर ब्लॉक में बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों व नेताओं के सम्मेलन कर रहे हैं। शुक्रवार को इसी क्रम में वह जुब्बल-कोटखाई पहुंचे और सम्मेलन में केंद्र की नरेंद्र मोदी और प्रदेश की जयराम सरकार को कठघरे में खड़ा किया।

सुक्खू ने हिमाचल के बीजेपी सांसदों पर भी तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी के सामने बीजेपी सांसदों की जुबान पर ताला लग जाता है। वे हिमाचल के हितों की रक्षा करने और चुनावी वादे पूरा कराने में विफल रहे हैं। सांसद वीरेंद्र कश्यप तो बागवानों और किसानों का मुद्दा मोदी के सामने उठाने की हिम्मत ही नहीं जुटा पाए। उन्होंने मोदी को सेब पर आयात मूल्य 50 प्रतिशत बढ़ाने का वादा तक याद नहीं कराया। सुक्खू ने कहा कि बीजेपी सिर्फ झूठ की राजनीति में माहिर है।

सड़कें जर्जर, सरकार मरम्मत कराने में नाकाम

सुखविंदर सिंह सुक्खू ने प्रदेश सरकार को भी आड़े हाथों लिया है। उन्होंने कहा कि जयराम सरकार का एक साल पूरा होने जा रहा है। छह महीने सरकार ने हनीमून पीरियड में गुजार दिए। उसके बाद प्रदेश की जनता की सुध लेनी चाहिए थी, लेकिन सरकार सत्ता के नशे में चूर है। प्रदेश की जर्जर सड़कों की मरम्मत कराने की ओर से कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा। स्थिति यह है कि सड़क में गड्ढे नहीं, गड्ढों में सड़कें हो गई हैं। इसलिए सरकार तत्काल मरम्मत कार्य शुरू कराए।

- Advertisement -

Leave A Reply